बटलर पर सिराज का बाउंसर अटैक, लगातार दो गेंद हेलमेट पर लगीं, बार-बार मेडिकल टीम को आना पड़ा; हेलमेट भी टूटा

बटलर पर सिराज का बाउंसर अटैक, लगातार दो गेंद हेलमेट पर लगीं, बार-बार मेडिकल टीम को आना पड़ा; हेलमेट भी टूटा
Share

मैनचेस्टर (एजेंसी)।  भारत और इंग्लैंड के बीच रविवार को मैनचेस्टर में खेले गए सीरीज के आखिरी मैच में जसप्रीत बुमराह की जगह प्लेइंग इलेवन में मोहम्मद सिराज खेल रहे थे। उन्होंने अपनी घातक बाउंसर से इंग्लैंड के कप्तान जोस बटलर को काफी परेशान किया। सिराज की लगातार दो गेंद बटलर के हेलमेट पर लगीं। इसके बाद बार-बार मेडिकल टीम और फिजियो को मैदान पर आना पड़ा। बाउंसर इतनी खतरनाक थी कि बटलर का हेलमेट भी टूट गया।

19वें ओवर में बटलर के सामने सिराज की खतरनाक गेंदबाजी

इंग्लैंड की पारी के 19वें ओवर में सिराज गेंदबाजी कर रहे थे। इस ओवर की चौथी और पांचवीं गेद जोस बटलर के हेलमेट पर जाकर लगी। चौथी गेंद लगी तो बटलर का हेलमेट टूट गया। वहीं, बार-बार फीजियो और मेडिकल टीम के मैदान पर आने से करीब 20 मिनट तक मैच रोकना पड़ा। सिराज की गेंद को जोस पुल करना चाहते थे, लेकिन गेंद की स्पीड इतनी ज्यादा थी कि वो बल्ले पर गेंद ही नहीं आ रही थी। हालांकि, बटलर सिराज की कहर बरपाती हुई गेंद से ज्यादा घायल नहीं हुए और मैच में 60 रन की पारी खेली।

विराट की सलाह सिराज के काम आई

इससे पहले सिराज ने इंग्लैंड की पारी के दूसरे ओवर में दो विकेट झटक लिए थे। उन्होंने जॉनी बेयरस्टो और जो रूट को बिना खाता खोले ही पवेलियन की राह दिखाई। यह सिराज का मैच का पहला ओवर था। ओवर की तीसरी गेंद पर बेयरस्टो को श्रेयस अय्यर के हाथों कैच करवाया, तो ओवर की आखिरी गेंद पर जो रूट को आउट किया। सिराज के दोनों विकेट लेने से पहले पूर्व कप्तान विराट कोहली ने आकर उन्हें कुछ समझाया था और बताया था कि बेयरस्टो और रूट को कहां गेंद फेंकनी है। दोनों ने फिर साथ में जश्न भी मनाया।

स्टोक्स का वनडे से संन्यास, आज द.अफ्रीका के खिलाफ खेलेंगे आखिरी मैच, लंदन (एजेंसी)। इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने वनडे क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। वो मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाले वनडे के बाद इस फॉर्मेट में खेलते नजर नहीं आएंगे। स्टोक्स ने अब तक 104 वनडे मैच खेले हैं। 31 साल के स्टोक्स 2019 के वनडे वल्र्ड कप फाइनल में ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे थे।

यह मैच लॉर्ड्स में खेला गया था और इसे इंग्लैंड ने पहली बार वनडे वल्र्ड कप जीता था। फाइनल में उन्होंने 84 रन की पारी खेली थी। 2011 में उन्होंने आयरलैंड के खिलाफ वनडे डेब्यू किया था। स्टोक्स ने 2919 रन बनाए हैं और 74 विकेट उनके नाम दर्ज हैं।

टेस्ट क्रिकेट लिए सबकुछ लगा दूंगा

क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में खेलना मेरे लिए बहुत मुश्किल है। मुझे लगता है कि मेरा शरीर भी अब जवाब दे रहा है। मैं खुद एक खिलाड़ी की जगह ले रहा हूं। मैं चाहता हूं मेरी जगह कोई और इस फॉर्मेट में खेले और मुझसे बेहतर करे।

स्टोक्स ने आगे कहा, मेरे पार अब टेस्ट क्रिकेट खेलने का समय होगा और इसके लिए मैं को सब कुछ लगा दूंगा। वहीं, टी-20 प्रारूप के लिए भी मैं पूरी तरह तैयार रहूंगा।

भारत के खिलाफ फ्लॉप साबित हुए थे

अभी हाल ही में भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में बेन स्टोक्स कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। बल्ले और गेंद दोनों से स्टोक्स फ्लॉप रहे थे। उन्होंने बल्ले से 3 मैच में 16 के साधारण औसत से सिर्फ 48 रन निकले थे। वहीं, उनको पूरी सीरीज में एक भी विकेट नहीं मिला था।

पाकिस्तान के खिलाफ 3-0 से जीती थी सीरीज

बेन स्टोक्स ने अपनी कप्तानी में पाकिस्तान को 3-0 से वनडे सीरीज में मात दी थी। स्टोक्स ने कहा, मैं इंग्लैंड के लिए अपना आखिरी मैच एकदिवसीय क्रिकेट में मंगलवार को डरहम में खेलूंगा। मैंने इस प्रारूप से संन्यास लेने का फैसला किया है। यह एक मेरे लिए कठिन निर्णय है। मुझे अपने साथियों के साथ खेलने को लेकर बहुत गर्व महसूस हुआ। यह निर्णय मेरे लिए बहुत कठिन था।


Share