शोभारानी की भाजपा से खुलकर बगावत : कहा- भाजपा हमारे पास आई थी हम नहीं गए, एक भी वादा पूरा नहीं किया

शोभारानी की भाजपा से खुलकर बगावत : कहा- भाजपा हमारे पास आई थी हम नहीं गए, एक भी वादा पूरा नहीं किया
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।  राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद सस्पेंड भाजपा विधायक शोभारानी कुशवाह ने अब खुलकर बगावत करते हुए पार्टी छोडऩे के संकेत दे दिए हैं। शोभारानी ने शनिवार को बड़े नेताओं पर वादाखिलाफी करने का आरोप लगाकर हमला बोला है।

शोभारानी ने कहा- किसी भी नेता का वजूद उनके कार्यकर्ताओं से होता है, इसलिए हमारे कार्यकर्ताओं ने निर्णय लिया है कि वे खुद ऐसी पार्टी में नहीं रहना चाहते हैं, जिसके राष्ट्रीय नेता ही अपने प्रत्याशियों को हराने का काम करें। अब तक मैंने, मेरे कुशवाह समाज और मेरे सभी सर्वसमाज के कार्यकर्ताओं ने धोखा बहुत खा लिया। अब कोई हमें दोबारा से धोखा दे, यह हमारे कार्यकर्ताओं को और हमें मंजूर नहीं है। जो पार्टी अपने ही उम्मीदवारों को हराए, उसमें कौन रहना चाहेगा?

धौलपुर विधायक शोभारानी ने कहा- 2017 में धौलपुर उपचुनाव के लिए मैं और मेरा कुशवाह समाज भाजपा  के पास नहीं गए थे। मेरे परिवार को तबाह करने के बाद जब इनको लगा कि धौलपुर जिले के साथ-साथ पूरे राजस्थान का कुशवाह समाज भाजपा के हाथ से निकल सकता है तो खुद चलकर के आए थे।

भाजपा के बड़े नेताओं ने मेरे समाज के प्रदेशाध्यक्ष, जिम्मेदार 20 बुजुर्ग और युवाओं के सामने कुछ वादे किए थे। उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं हुआ। हाईकमान उन महान बड़े लोगों से पूछे जो हमें भाजपा में लेकर गए थे कि हमारे साथ ऐसा क्यों हुआ?

खुलेआम क्रॉस वोटिंग की चर्चा करने वाले को स्वीकार नहीं किया

क्रॉस वोटिंग पर शोभारानी ने अपनी सफाई देते हुए सुभाष चंद्रा पर भी निशाना साधा। कहा- भाजपा की तरफ से केवल एक प्रत्याशी घनश्याम तिवाड़ी थे। हमें विश्वास पात्रों में नहीं रखते हुए यह बोला गया कि आप लोगों को निर्दलीय उम्मीदवार को वोट करना है। वह भी उस व्यक्ति के लिए जिसने 2014 में हमारे खिलाफ पूरे देश में अपने चैनल पर झूठी अफवाह फैलाई थी। वह व्यक्ति पैसे के दम पर पूरे नंबर न होने के बावजूद भी खुलेआम क्रॉस वोटिंग की चर्चा कर रहा था। ऐसे व्यक्ति को हमारे समर्थकों ने स्वीकार नहीं किया।

मुझे 2023 के चुनावों में राजनीति से बाहर करना चाहते हैं

शोभारानी ने भाजपा के बड़े नेताओं पर भी साजिश के तहत राजनीति से बाहर करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा- भाजपा के राष्ट्रीय नेता अब भी मेरे समाज के कुछ गुलाम और लालची लोगों को आगे करके समाज की एकता को तोड़कर 2023 के चुनावों में मुझे बाहर करना चाहते हैं।

क्योंकि इन्हें पता है कि शोभारानी कुशवाह उस कुशवाह की पत्नी है, जिसने कभी झुकना सीखा ही नहीं, चाहे सामने कितनी ही बड़ी ताकत क्यों न हो? ऊपर से धौलपुर की सीट को हमने लगातार तीन बार जीता है। ये जानते हैं कि अगर चौथी बार जीतेंगे तो इनका कद राजनीति में बहुत ऊपर चला जाएगा। इसलिए यह चाहते हैं कि कोई ऐसा कुशवाह गुलाम मिल जाए जो इनकी हां में हां मिलाता रहे। यह लोग कुशवाह समाज के वोटों को लूटते रहे।


Share