शास्त्री ने हार के बाद सलेक्शन पर उठाए सवाल-कहा, शमी जैसा लड्डू आपके सामने था, लेकिन आपने लिया ही नहीं

Shastri raised questions on the selection after the defeat - Said, there was a laddu like Shami in front of you, but you did not take it
Share

नई दिल्ली  (एजेंसी)। टीम इंडिया एशिया कप के फाइनल की रेस से लगभग बाहर हो गई है। टी20 एशिया कप के सुपर-4 के एक मुकाबले में मंगलवार को श्रीलंका ने भारत को 6 विकेट से हराया। यह सुपर-4 में भारतीय टीम की दूसरी हार है। इससे पहले उसे पाकिस्तान के खिलाफ 5 विकेट से हार मिली थी। हार के बाद पूर्व कोच रवि शास्त्री ने टीम के सेलेक्शन पर सवाल उठाए हैं। कप्तान रोहित शर्मा के 72 रन के सहारे भारत ने पहले खेलते हुए 8 विकेट पर 173 रन बनाए। जवाब में श्रीलंका ने लक्ष्य को 19.5 ओवर में 4 विकेट पर हासिल कर लिया।

मैच के दौरान रवि शास्त्री ने स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत के दौरान टीम इंडिया के सेलेक्शन पर सवाल उठाए। उन्होंने तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को टीम में शामिल नहीं किए जाने को लेकर आश्चर्य जताया। उन्होंने कहा कि शमी जैसा लड्डू आपके सामने था, लेकिन आपने लिया ही नहीं। यानी उसे अच्छे प्रदर्शन के बाद भी टीम में जगह नहीं मिली। मालूम हो कि शमी ने आईपीएल 2022 में गुजरात टाइटंस की ओर से अच्छा प्रदर्शन किया था और टीम को चैंपियन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने 16 मैच में 20 विकेट झटके थे। 25 रन देकर 3 विकेट बेस्ट प्रदर्शन था। इकोनॉमी 8 की रही थी।

एक तेज गेंदबाज कम था

मैच के बाद रवि शास्त्री ने कहा कि टीम में एक गेंदबाज कम था। उन्होंने कहा कि श्रीलंका के खिलाफ आर अश्विन से जल्दी बॉलिंग कराई जा सकती थी। इसके बाद दीपक हुडा को भी आजमाया जा सकता था। शास्त्री ने कहा कि शमी को टी20 वल्र्ड कप के लिए टीम में होना चाहिए। उसके पास ऑस्ट्रेलिया में खेलने का अनुभव है। उनकी बात को आगे बढ़ाते हुए पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा कि वल्र्ड कप में हमें एक तरह के गेंदबाज नहीं चाहिए। गंभीर ने कहा कि भुवनेश्वर कुमार, दीपक चाहर और हर्षल पटेल तीनों पास अधिक पेस नहीं है। वहीं जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के पास पेस है। टीम को अभी एशिया कप के अंतिम मुकाबले में 8 सितंबर को अफगानिस्तान से भिडऩा है। इसके बाद घर में ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका से 3-3 मैचों की टी20 सीरीज खेलनी है। इसके बाद टीम को टी20 वल्र्ड कप में उतरना है।


Share