शमी का टी-20 वर्ल्ड कप के लिए दावा, 17 करोड़ी राहुल को गोल्डन डक पर चलता किया, पहली बार पावरप्ले में चटकाए 3 विकेट

Shami's claim for T20 World Cup, scored 17 crore Rahul for a golden duck, took 3 wickets in the powerplay for the first time
Share

पुणे (एजेंसी)।  जिस मोहम्मद शमी को टीम इंडिया की संभावित टी-20 टीम से बाहर करने की बात कही जा रही है, उन्होंने सोमवार रात ढ्ढक्करु के अपने पहले मुकाबले में गेंदबाजी से कहर बरपा दिया। मुकाबले की पहली गेंद पर 17 करोड़ी केएल राहुल को 0 पर निपटाने के बाद भी शमी नहीं रूके। अपने पूरे करियर में शमी ने कभी पावर प्ले में 3 विकेट नहीं चटकाए थे, लेकिन इस मैच में उन्होंने ये भी कर दिखाया।

दिलचस्प ये है कि शमी की फिटनेस पर लगातार सवाल खड़े किए जा रहे हैं और अब उन्हें गुजरे हुए जमाने का खिलाड़ी कहा जाने लगा है। गुजरात टाइटंस की तरफ से खेलते हुए शमी ने लखनऊ के खिलाफ पावर प्ले में 3 विकेट चटका कर अपने आलोचकों को करारा जवाब दिया है।

चयनकर्ताओं को दिखाया आइना, टी-20 वर्ल्ड कप में हार के बाद टीम में नहीं मिला खेलने का मौका

टी-20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की शर्मनाक हार के बाद से शमी को किसी भी लिमिटेड ओवर सीरीज के लिए टीम इंडिया में नहीं चुना गया था। वेस्टइंडीज के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए शमी को रेस्ट दिया गया था, लेकिन श्रीलंका सीरीज में उनको टीम का हिस्सा ही नहीं बनाया गया।

बीसीसीआई के सूत्रों ने कहा कि हर गेंदबाज को हर फॉर्मेट में नहीं खिलाया जा सकता। सिर्फ जसप्रीत बुमराह ही ऐसे गेंदबाज हैं जो हर फॉर्मेट में फिट बैठते हैं। जिस तरीके से ऋद्धिमान साहा को कोच राहुल द्रविड़ ने टेस्ट टीम से बाहर होने की जानकारी दी, अब कुछ वैसा ही बर्ताव शमी के साथ वनडे और टी-20 टीम को लेकर किए जाने की बात चल रही है।

सिर्फ 17 टी-20 मुकाबलों में टीम इंडिया के लिए खेल सके हैं

अपने 9 साल के करियर में शमी ने केवल 17 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले हैं। शमी की फिटनेस को निशाना बनाते हुए उन्हें टीम से निकालने की सुगबुगाहट इन दिनों तेज है। यह भी कहा जा रहा है कि हम सिर्फ तेज गेंदबाजों पर फोकस करने की बजाय ऑलराउंडर को टीम में शामिल करना चाहते हैं।

बता दें कि शमी की तुलना शार्दूल ठाकुर और दीपक चाहर से की जाने लगी है। वे दोनों तो ऑलराउंडर हैं, लेकिन शमी इतनी अच्छी बल्लेबाजी नहीं कर पाते। इस बहाने भी शमी पर निशाना साधा जा रहा है।

अब आईपीएल के इस मैच में मोहम्मद शमी ने जबरदस्त गेंदबाजी कर यह साबित कर दिया है कि आने वाले समय में उनको व्हाइट बॉल क्रिकेट से दूर रखना मुश्किल होने वाला है। अगर आईपीएल के अगले कुछ मुकाबलों के दौरान शमी इसी तरह पावरप्ले के शुरूआती ओवरों में टीम को विकेट चटका कर देते हैं तो इस साल के आखिर में होने वाले टी-20 वल्र्ड कप में वह टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करने में सफल हो सकते हैं।


Share