संभाग में अंधड़ के साथ तेज बारिश, डूंगरपुर में 4 व प्रतापगढ़ में 1 की मौत, प्रदेश में अलर्ट

चक्रवात Tauktae पर पीएम की समीक्षा बैठक
Share

उदयपुर. नगर संवाददाता & प्रदेश में रविवार को कोरोना लॉकडाउन के बीच तूफान ताऊ ते का असर देखने को मिला व कई जगह अंधड़ के साथ तेज बारिश हुई। इस दौरान जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया,  गांव-देहातों में कई जगह पेड़ व खंभे उखड़ गए, टिन-टप्पर उड़ गए और जनहानि भी हुई। उदयपुर संभाग के डूंगरपुर में चार जबकि प्रतापगढ़ में एक जने की मौत हो गई।

झीलों की नगरी उदयपुर में रविवार दिन भर उमस के बाद शाम करीब 4.30 बजे तेज अंधड़ व बिजलियों की कड़कड़ाहट के बाद कुछ समय के लिए तेज बारिश हुई। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार चक्रवात का असर सोमवार को भी रहेगा व दक्षिणी राजस्थान के उदयपुर, जोधपुर, अजमेर व कोटा संभाग में आंधी और बारिश की संभावना है। इस दौरान 40 से 50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। अति कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण पूर्वी अरब सागर की खाड़ी में बना हुआ है व अगले 24 घंटों में और तीव्र होकर इसके चक्रवाती तूफान के रूप में परिवर्तित होने के आसार हैं।

बिजली गिरने से 4 की मौत

डूंगरपुर में धम्बोला थाना क्षेत्र के नगरिया पंचेला गांव में आकाशीय बिजली गिरने से दो बच्चों की मौत हो गई। दोपहर बाद तेज अंधड़ के दौरान वे आम लेने गए, इस दौरान पेड़ पर बिजली गिर गई। बच्चों के साथ बकरियां भी चपेट में आ गई। बच्चों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया तो तीन अन्य घायल हो गए।  इसी प्रकार लूणिया में कृषक व प्रतापगढ़ में वीरपुर गांव में बिजली गिरने से युवक भी मौत हो गई। देर शाम डूंगरपुर के मृ़तकों के परिजनों को जिला प्रशासन की ओर से चार-चार लाख की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के आदेश दिए गए।

आपात बैठक, विशेष निगरानी दल का गठन

चक्रवाती तूफान के दौरान कोविड मरीजों के लिए विशेष निगरानी दल बनाए गए हैं तथा संभाग के सभी जिला कलेक्टरों ने आपात बैठक कर कोविड केयर वाले सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति के निर्देश दिए। एवीवीएनएल के अधिकारियों, एनडीआरएफ दलों को भी अलर्ट मोड पर रखा गया है। उदयपुर में जिला कलेक्टर ने आपातकालीन बैठक बुलाई व ऑक्सीजन गैस उत्पादकों से सतत ऑक्सीजन अपूर्ति करने को कहा, निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड विभाग से एक एक सहायक अभियन्ता/कनिष्ठ अभियन्ता को नियुक्त करने के निर्देश दिए। अस्पतालों में भी अधिकारियों की तैनाती की गई।

संभाग में दो दिन की चेतावनी

अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान तौउते के प्रभाव से उदयपुर संभाग में भी मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। 18 और 19 मई को उदयपुर संभाग के कुछ जिलों में तेज हवाओं के साथ अत्यंत भारी बारिश की संभावना है। मौसम विज्ञान केन्द्र जयपुर के पूर्वानुमान के अनुसार उदयपुर संभाग को रेड जोन में रखा गया है। उदयपुर संभाग में चक्रवाती तूफान तौउते की वजह से सोमवार को 40-50 किमी. प्रति घंटा की रफ्तार की हवाओं के साथ हल्के से मध्यम बारिश तथा एक-दो स्थानों पर भारी बारिश की संभावना है। 18 मई, मंगलवार और 19 मई, गुरुवार को इस सिस्टम का सर्वाधिक असर देखने को मिलेगा।


Share