दोषियों की गिरफ्तारी के लिए सात दिन का अल्टीमेटम

Seven days ultimatum to arrest the culprits
Share

चेनसिंह हत्याकांड: कलेक्ट्री पर राजपूत समाज का प्रदर्शन

उदयपुर. नगर संवाददाता & जिले के खैरोदा थाना क्षेत्र में मारपीट कर युवक की हत्या करने के मामले का राजफाश नहीं करने और आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर बुधवार को आक्रोशित राजपूत समाज ने मृतक के परिजनों के साथ जिला कलेक्ट्री पर प्रदर्शन किया। इस दौरान मार्ग अवरूद्ध करने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर ने उन्हें ऐसा करने से मना किया तो वे उनसे भी बहस करने लगे। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि आरोपियों से पुलिस की मिलीभगत है इस वजह से मामले में लीपापोती की जा रही है यदि सात दिन में गिरफ्तारी नहीं हुई तो उग्र प्रदर्शन किया जायेगा।

पुलिस के अनुसार बिछावेड़ा मजावड़ा निवासी चेनसिंह (28) पुत्र गोपालसिंह सिसोदिया के साथ अज्ञात लोगों ने मारपीट कर हत्या कर दी। मृतक के पिता गोपाल का आरोप है कि उसका बेटा भमरासिया की घाटी स्थित होटल पर काम कर रहा था और दिवाली पर घर आया था, 27 अक्टूबर को पुन: घर से निकलकर काम के लिए चला गया। पिता गोपाल सिंह ने बताया कि उन्हें आशंका है कि आरोपी लादूराम व उसके भतीजे राजू ने हिसाब करने के बहाने उसे बुलाया और उसकी हत्या कर लाश फैंक दी। पुलिस ने मामले में एक तरफा कार्यवाही की तो स्थानीय प्रधान देवीलाल के नेतृत्व में खैरोदा थाने का घेराव किया तो पुलिस ने उन्हें डर दिखाकर भगा दिया लेकिन अगले दिन क्षेत्रिय विधायक प्रीती शक्तावत, पूर्व विधायक रणधीरसिंह भीण्डर, भाजपा देहात जिलाध्यक्ष चंद्रगुप्तसिंह चौहान सहित अन्य पदाधिकारी पहुंचे और पुलिस के खिलाफ हंगामा करने पर मामला हत्या में दर्ज किया गया। पिता का आरोप है कि इस मामले में हेड कांस्टेबल भेरूलाल जाट व कांस्टेबल रतनलाल जाट की भी संदिग्ध भूमिका है। उनके बयान भी अलग-अलग है लेकिन उनके खिलाफ पुलिस द्वारा कार्यवाही नहीं की। क्षेत्रिय विधायक ने दोनों को थाने से हटाने के लिए कहा उसके बावजूद भी उन्हें नहीं हटाया गया।

बुधवार को बिछावेड़ा गांव के राजपूत समाज के लोग और स्थानीय राजपूत व करणीसेना के पदाधिकारी जिला कलेक्ट्री पहुंचे। मृतक युवक का फोटो लेकर कलेक्ट्री के बाहर मार्ग अवरूद्ध कर प्रदर्शन किया। इस दौरान भाजपा जिलाध्यक्ष चंद्रगुप्त सिंह चौहान, भाजयुमो देहात जिलाध्यक्ष ललितसिंह सिसोदिया, कुलदीप सिंह साकरियाखेड़ी, कांग्रेस नेता कुंदनसिंह कछेर सहित कई वरिष्ठ भाजपा व कांग्रेस के नेताओं के अलावा करणी सेना के जिलाध्यक्ष भंवरसिंह सलाडिय़ा भी मौजूद थे और उन्होंने इस मामले में सात दिन का अल्टीमेटम देते हुए जिला कलेक्टर एवं जिला पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा। दोषियों को शीघ्र गिरफ्तार करें एवं मामले में लिप्त हेड कांस्टेबल व कांस्टेबल को बर्खास्त करने की मांग की।


Share