इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए 2 हफ्तों में सीरम इंस्टिट्यूट करेगा अप्लाई

इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए 2 हफ्तों में सीरम इंस्टिट्यूट करेगा अप्लाई
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी पुणे स्थित सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ आदर पूनावाला ने शनिवार को कहा कि कोरोना वैक्सीन में देरी की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा कि कोविशील्ड के ट्रायल के नतीजे बहुत अच्छे रहे हैं। पूनावाला ने यह भी बताया कि कोविशील्ड के इमर्जेंसी में इस्तेमाल की इजाजत के लिए जल्द ही अप्लाई किया जाएगा। इसका साफ मतलब है कि वैक्सीन निर्माण अडवांस्ड स्टेज में है। आदर पूनावाला ने कहा कि हम कोविशील्ड के इमर्जेंसी में इस्तेमाल के लिए इजाजत की खातिर अगले 2 हफ्तों में आवेदन करने की प्रक्रिया में हैं। सीरम इंस्टिट्यूट के प्रमुख ने बताया कि कोविशील्ड के ट्रायल के नतीजे बहुत ही अच्छे रहे हैं।

प्र.म. को वैक्सीन और उसके प्रोडक्शन के बारे में काफी जानकारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सीरम इंस्टिट्यूट के दौरे पर पूनावाला ने कहा कि प्र.म. के साथ वैक्सीन को लेकर विस्तार से चर्चा हुई। उन्होंने बताया कि सीरम इंस्टिट्यूट ने पुणे में सबसे  बड़ा संयंत्र बनाया है और मंडरी में नया कैंपस बनाया है। उन्होंने कहा कि प्र.म. को अब वैक्सीन और वैक्सीन प्रोडक्शन के बारे में बहुत जानकारी है। उन्होंने कहा कि हम हैरान थे कि उन्हें पहले से ही बहुत कुछ पता था। बहुत कम चीजों के बारे में उन्हें विस्तार से बताना पड़ा।

सबसे पहले भारत में देंगे वैक्सीन

आदर पूनावाला ने कहा कि वैक्सीन की वितरण शुरूआत में भारत में ही किया जाएगा उसके बाद कोवेक्स देशों में वितरण के बारे में सोचा जाएगा जो मुख्य तौर पर अफ्रीका में हैं। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन और यूरोप में वैक्सीन के वितरण का काम एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफर्ड कर रहे हैं। सीरम इंस्टिट्यूट के चीफ ने कहा कि उनकी प्राथमिकता में भारत और कोवेक्स देश हैं।


Share