लक्ष्य से नहीं भटके सेन , पहला गेम हारने के बाद भी जीता गोल्ड

लक्ष्य से नहीं भटके सेन , पहला गेम हारने के बाद भी जीता गोल्ड
Share

बर्मिंघम (एजेंसी)। भारत के लक्ष्य सेन ने कॉमनवेल्थ गेम्स में पुरूष सिंगल्स का गोल्ड मेडल जीत लिया है। फाइनल मुकाबले में लक्ष्य ने मलेशिया के त्जे योंग को पहला गेम हारने के बाद 19-21, 21-9, 21-16 से हराया। पहली बार कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा ले रहे 21 साल के लक्ष्य सेन ने भारत को 20वां गोल्ड दिलाया। इससे पहले पीवी सिंधु ने भी महिला सिंगल्स में गोल्ड मेडल अपने नाम किया था। भारत के किदांबी श्रीकांत को पुरूष इवेंट में ब्रॉन्ज मेडल मिला।
दूसरे और तीसरे गेम में दमदार खेल
दूसरे गेम में एक समय दोनों खिलाडिय़ों के बीच कांटें की टक्कर चल रही थी। एक समय लक्ष्य 6-8 से पीछे हो गए थे। लेकिन इसके बाद दमदार वापसी की। उन्होंने 15 पॉइंट बना लिए और इस दौरान योंग को सिर्फ एक पॉइंट लेने दिया। इस तरह उन्होंने दूसरा गेम 21-9 से अपने नाम किया। तीसरे गेम में एक बार फिर कड़ी टक्कर हुई। लेकिन लक्ष्य सेन ने हमेशा बढ़त बनाए रखी। अंत में उन्हें गेम को 21-16 से जीतने के साथ गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया।
कड़ी टक्कर देकर लक्ष्य सेन पहला गेम हारे
लक्ष्य सेन और के त्जे योंग के बीच मुकाबला उम्मीद के मुताबिक आक्रामक अंदाज में शुरू हुआ। दोनों के बीच एक-एक पॉइंट के लिए जोरदार भिड़ंत हो रही थी। हालांकि मलेशियाई शटलर कहीं अधिक आक्रामक दिख रहा था। 6-6 तक मुकाबला बराबरी पर था, लेकिन अंत में योंग ने 14-11 की बढ़त ली तो लक्ष्य ने भी जोर लगाया। देखते ही देखते स्कोर 15-16 और फिर 17-18 पहुंच गया। लक्ष्य अब धड़ाधड़ स्मैश पर स्मैश ठोके जा रहे थे और 18-18 पर बराबरी के बाद 19-18 की लीड ले ली। हालांकि, यहां योंग ने जबरदस्त स्मैश मारा और स्कोर 20-19 पर पहुंचा दिया। आखिरी पॉइंट के लिए योंग को काफी मशक्कत करनी पड़ी और लंबी रैली के बाद यह गेम 21-19 से जीत लिया।
ऐसा रहा सेमीफाइनल का सफर
उल्लेखनीय है कि इससे पहले विश्व रैंकिंग में 10वें स्थान पर काबिज लक्ष्य ने सिंगापुर के जिया के खिलाफ सेमीफाइनल में जीत दर्ज की थी। उन्होंने कड़े मुकाबले को 21-10, 18-21, 21-16 से अपने नाम किया था। दूसरी ओर योंग ने पुरूष एकल के दूसरे सेमीफाइनल में श्रीकांत को 13-21, 21-19, 21-10 से हराया था।


Share