सुरक्षाबलों ने 24 घंटे में लिया राहुल भट्ट का बदला, 3 आतंकी किए ढेर, 350 कश्मीरी पंडितों का सरकारी पदों से इस्तीफा

Security forces took revenge of Rahul Bhatt in 24 hours, 3 terrorists killed, 350 Kashmiri Pandits resigned from government posts
Share

श्रीनगर (एजेंसी)।  कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या में शामिल तीनों आतंकियों को सुरक्षाबलों ने 24 घंटे के अंदर मार गिराया है। जम्मू-कश्मीर सरकार ने राहुल की मौत की जांच के लिए स्ढ्ढञ्ज गठित कर दी है। सरकार ने राहुल की पत्नी को सरकारी नौकरी देने और उनकी बेटी की पढ़ाई का पूरा खर्चा उठाने का भी ऐलान किया है। उधर, कश्मीरी पंडितों में लगातार निशाना बनाकर हो रहे हमलों से खौफ फैल गया है। इस टारगेट किलिंग के विरोध में 350 सरकारी कर्मचारियों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया है।

गुरूवार से ही चल रहा था सर्च ऑपरेशन : गुरूवार को आतंकियों ने बडग़ाम जिले के चडूरा तहसील ऑफिस में घुसकर क्लर्क राहुल को शूट कर दिया था। इसके बाद राहुल ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया था। घटना के बाद से ही इलाके में सर्च ऑपरेशन चल रहा था। इसी बीच पुलिस और सुरक्षाबलों की टीम को जानकारी मिली कि बांदीपोरा के बरार इलाके में कुछ आतंकी छिपे हुए हैं। शुक्रवार को आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच एनकाउंटर हुआ। इसमें राहुल की हत्या में शामिल तीनों आतंकी ढेर हो गए।

कश्मीरी पंडितों ने उपराज्यपाल को भेजे इस्तीफे : राहुल भट्ट की हत्या को लेकर कश्मीरी पंडितों में भारी आक्रोश है। हत्या के विरोध में शुक्रवार को 350 सरकारी कर्मचारियों ने इस्तीफा दे दिया है। कर्मचारियों ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को अपने इस्तीफे भेज दिए हैं। सभी कश्मीरी पंडित प्रधानमंत्री पैकेज के कर्मचारी हैं। इन लोगों का कहना है कि घाटी में कश्मीरी पंडित सुरक्षित नहीं है। रोज इसकी बानगी देखने को मिलती है। सरकार कश्मीरी पंडितों को सुरक्षा देने के वादे तो करती है, लेकिन वो जमीन पर दिखाई नहीं देते। ऐसे में हम कश्मीर में असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

24 घंटे के अंदर दो सरकारी कर्मचारियों की हत्याएं : कश्मीर में 24 घंटों के अंदर हत्या की दो घटनाएं सामने आई हैं। गुरूवार को कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या हुई थी। शुक्रवार को पुलवामा के गुदूरा में आतंकियों ने एसपीओ रियाज अहमद थोकर पर फायरिंग कर दी, अस्पताल में उनकी मौत हो गई। डीआईजी दक्षिण कश्मीर रेंज अब्दुल जब्बार ने बताया कि रियाज छुट्टी पर था और अपने बच्चे की स्कूल बस का इंतजार कर रहा था। इस दौरान दो अज्ञात बाइक सवारों ने उस पर कथित तौर पर गोलियां चला दीं।


Share