दूसरा टी-20 चार रन से जीत भारत ने सीरीज पर कब्जा जमाया 225 रन के जवाब में आयरलैंड ने बना डाले 221 रन, आखिरी ओवर में उमरान की बेहतरीन गेंदबाजी, हुड्डा का शानदार शतक, सैमसन की फिफ्टी

Second T20 win by four runs, India captured the series, in response to 225 runs, Ireland scored 221 runs, Umran's excellent bowling in the last over, Hooda's brilliant century, Samson's fifty
Share

मेलाहाइड (एजेंसी) । टीम इंडिया ने दूसरे टी-20 मैच में आयरलैंड को 4 रन से हराकर सीरीज में 2-0 से क्लीन स्वीप कर लिया। दीपक हुड्डा (104 रन) के शानदार शतक और संजू सैमसन के तूफानी 77 रन के दम पर भारत ने 225/7 का स्कोर बनाया। जवाब में आयरलैंड की टीम 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 221 रन ही बना सकी। मैच के आखिरी ओवर में आयरलैंड को 17 रन की जरूरत थी। उमरान मलिक ने इसमें 12 रन ही दिए।

बतौर कप्तान हार्दिक पांड्या ने अपनी पहली सीरीज में विपक्षी टीम को क्लीन स्वीप किया। दीपक हुड्डा प्लेयर ऑफ द मैच और प्लेयर ऑफ द सीरीज रहे। उन्होंने पहले टी-20 में भी 47 रन की नाबाद पारी खेली थी।

226 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी आयरलैंड की टीम को पॉल स्टर्लिंग और कप्तान एंड्रयू बलबर्नी ने तूफानी शुरुआत दिलाई। इन दोनों ने 34 गेंदों पर 72 रन की साझेदारी कर डाली। रवि बिश्नोई ने आयरलैंड को पहला झटका दिया। उन्होंने स्टर्लिंग को क्लीन बोल्ड किया। स्टर्लिंग ने 18 गेंदों में पांच चौके और तीन छक्के की मदद से 40 रन की पारी खेली।

इसके बाद गैरेथ डेलानी खाता खोले बिना रन आउट हुए। उन्हें हार्दिक पांड्या ने डायरेक्ट हिट पर रन आउट किया। इसके बाद कप्तान एंड्रयू बलबर्नी ने अपने टी-20 अंतरराष्ट्रीय करियर का छठा अर्धशतक लगाया। उन्होंने 37 गेंदों पर तीन चौके और सात छक्के की मदद से 60 रन की पारी खेली। लोर्कन टकर कुछ खास नहीं कर सके और नौ गेंद पर पांच रन बनाकर आउट हुए।

उन्हें उमरान मलिक ने सब्सटिट्यूट फील्डर के हाथों कैच कराया। यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उमरान का पहला विकेट रहा। इसके बाद भुवनेश्वर कुमार ने अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैरी टेक्टर को दीपक हुड्डा के हाथों कैच कराया। टेक्टर ने 28 गेंदों पर पांच चौके की मदद से 39 रन की पारी खेली। आखिरी दो ओवर में आयरलैंड को 31 रन की जरूरत थी। इसके बाद हर्षल पटेल ने 19वें ओवर में 14 रन लुटाए।

आखिरी ओवर में कप्तान हार्दिक पांड्या ने गेंद उमरान मलिक को थमाई। पहले गेंद पर मार्क अडेयर कोई रन नहीं बना सके। दूसरी गेंद नो बॉल रही। यह गेंद उमरान को फिर से फेंकनी (फ्री-हिट) पड़ी, जिसपर अडेयर ने चौका जड़ा। तीसरी गेंद पर अडेयर ने फिर से चौका लगाया। चौथी गेंद पर उमरान ने एक रन दिया। पांचवीं गेंद पर फिर से एक रन आया।

आखिरी गेंद पर आयरलैंड को छह रन की जरूरत थी। हालांकि, उमरान की गेंद पर अडेयर सिर्फ एक रन बना सके और इस तरह टीम इंडिया ने चार रन से जीत हासिल की। भारत की ओर से भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, रवि बिश्नोई और उमरान मलिक ने 1-1 विकेट लिया। आयरलैंड की टीम भले ही मैच हार गई लेकिन उसके बल्लेबाजों ने गजब का संघर्ष दिखाया। इतना बड़ा टारगेट होने के बावजूद पूरे मैच में आयरिश टीम होड़ में बनी रही। कप्तान एंडी बलबिर्नी ने 60, हैरी टेक्टर ने 39 और जॉर्ज डॉकरेल ने 34 रन की पारी खेली। भारत की ओर से भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, रवि बिश्नोई और उमरान मलिक ने 1-1 विकेट लिया।

साल की तीसरी सीरीज जीत

टीम इंडिया ने इस साल टी-20 फॉर्मेट में तीसरी सीरीज जीत हासिल की है। इससे पहले भारत ने श्रीलंका और वेस्टइंडीज को हराया था। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज 2-2 से बराबर रही थी।

टी-20 इंटरनेशनल में शतक जमाने वाले भारत के चौथे बल्लेबाज

इससे पहले दीपक हुड्डा टी-20 इंटरनेशनल में शतक जमाने वाले भारत के अब तक के चौथे बल्लेबाज बन गए हैं। उनसे पहले रोहित शर्मा (4 शतक), केएल राहुल (2 शतक) और सुरेश रैना (1 शतक) यह कारनामा कर चुके हैं। करीब चार साल बाद किसी भारतीय बल्लेबाज ने टी-20 इंटरनेशनल में शतक जमाया है। इससे पहले भारत की ओर से आखिरी शतक नवंबर 2018 में रोहित शर्मा ने जमाया था।

भारत के लिए सबसे बड़ी पार्टनरशिप

दीपक और संजू ने दूसरे विकेट की पार्टनरशिप में 176 रन जोड़े। यह टी-20 इंटरनेशनल में भारत की ओर से किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी पार्टनरशिप का रिकॉर्ड है। पिछला रिकॉर्ड केएल राहुल और रोहित शर्मा के नाम था। उन दोनों ने 2017 में श्रीलंका के खिलाफ इंदौर में 165 रन की पार्टनरशिप की थी। हुड्डा और सैमसन की पार्टनिशप टी-20 इंटरनेशनल में दूसरे विकेट के लिए सबसे बड़ी पार्टनरशिप का वर्ल्ड रिकॉर्ड भी है।

भारतीय टीम में किए गए तीन बदलाव

भारतीय टीम में तीन बदलाव किए गए। चोटिल ऋतुराज गायकवाड की जगह संजू सैमसन, आवेश खान की जगह हर्षल पटेल और युजवेंद्र चहल की जगह रवि बिश्नोई को प्लेइंग-11 में शामिल किया गया।

डीआरएस ने दीपक हुड्डा को बचाया

भारत पारी के पांचवें ओवर की तीसरी गेंद पर अंपायर ने दीपक हुड्डा को एलबीडब्ल्यू आउट दे दिया था। हुड्डा ने डीआरएस लिया और बॉल ट्रैकिंग से पता चला कि गेंद लेग स्टंप के बाहर पिच हुई थी।


Share