एयरपोर्ट पर 11 देशों से आने वाले यात्रियों की जांच शुरू, अब तक 29 देशों में 373 मामले

Screening of passengers coming from 11 countries started at the airport
Share

लोकसभा में बोले विमानन मंत्री सिंधिया

नई दिल्ली (एजेंसी)। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने गुरूवार को कहा कि कोविड-19 का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन देशों के लिए हानिकारक है और और पूरी दुनिया को इससे बचने की जरूरत है। लोकसभा में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हम पिछले 6 महीने से ज्यादा समय से धीरे-धीरे विमानों का परिचालन बढ़ा रहे थे। इसमें अंतरराष्ट्रीय उड़ानें भी शामिल थीं। ओमिक्रॉन दुनिया के सभी देशों के लिए नुकसान लेकर आया है। हम सभी को इससे सुरक्षित रहने की जरूरत है।

केंद्रीय मंत्री ने बताया कि हमारी सरकार ने खतरे वाले 11 देशों की सूची बनाई है। बता दें कि भारत में 15 दिसंबर से अंतरराष्ट्रीय कमर्शियल उड़ानें शुरू होने वाली थीं। लेकिन बुधवार को डीजीसीए ने एक बयान जारी कर कहा कि ओमिक्रॉन को देखते हुए डीजीसीए अपने पुराने फैसले की फिर से समीक्षा करेगा।

नागर विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कोरोना वायरस के नये स्वरूप ‘ओमिक्रॉन’ के खतरे की आशंका को देखते हुए ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका और इजरायल समेत 11 देशों से आने वाले लोगों की हवाई अड्डों पर जांच शुरू की गई है। लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान मनीष तिवारी, चिंता अनुराधा और कुछ अन्य सदस्यों के पूरक प्रश्नों के उत्तर में सदन को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा, ओमिक्रॉन को लेकर पूरा विश्व सचेत हो चुका है। 31 देशों के साथ अंतरराष्ट्रीय हवाई यातायात समझौता (एयर बबल एग्रीमेंट) हैं, 10 देशों के साथ समझौते का प्रस्ताव है, हमें स्वास्थ्य और परिवाहन सेवा की सुविधा के बीच संतुलन बनाकर रखना होगा।

सिंधिया ने बताया कि ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, इजरायल समेत 11 देशों से आने वाले लोगों की हवाई अड्डों पर स्वास्थ्य जांच की सुविधा शुरू की गई है। उन्होंने कहा, 11 देशों को जोखिम के पैमाने पर रेखांकित किया गया। इसकी जांच कल शुरूआत हो गई। विभिन्न हवाई अड्डों पर कल विदेश से आने वाले साढ़े पांच हजार लोगों की जांच की गई।


Share