एससी/एसटी आयोग ने शुरू की जांच : एनसीबी डायरेक्टर वानखेड़े की पत्नी बोलीं- घर की रेकी कर रहे लोग

मलिक के वानखेड़े पर 26 वार- बचाव में आया पूरा परिवार
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। क्रूज ड्रग्स केस से चर्चा में आए मुंबई नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की पत्नी क्रांति रेडकर ने दावा किया है कि उनके परिवार की जान को खतरा है, इसलिए उनके परिवार को सुरक्षा दी जानी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया है कि 3 लोगों ने उनके घर की रेकी की है। क्रांति ने कहा कि वे जरूरत पडऩे पर पुलिस को सीसीटीवी फुटेज मुहैया कराएंगी।

क्रांति का यह बयान अनुसूचित जाति और जनजाति राष्ट्रीय आयोग के अध्यक्ष अरुण हलदर की वानखेड़े के घर हुई विजिट के बाद सामने आया है। हलदर वानखेड़े के ओरिजिनल डॉक्युमेंट देखने उनके घर पहुंचे थे। उनके जाने के बाद क्रांति ने कहा कि हलदर, वानखेड़े के डॉक्युमेंट खुद देखकर गए हैं, इसलिए अब उन लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए, जिन्होंने उनके पति पर आरोप लगाया था।

वानखेड़े पर हमलावर हैं मलिक

एनसीपी नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने समीर वानखेड़े पर एससी कोटे का गलत इस्तेमाल कर इंडियन रेवेन्यू सर्विस (आईआरएस) में भर्ती होने का आरोप लगाया है। मलिक ने वानखेड़े पर आरोप लगाया है कि वे पैदाइशी मुसलमान हैं, लेकिन जातिगत आरक्षण का लाभ उठाने के लिए अपनी पहचान छिपा रहे हैं।

वानखेड़े ने की थी हलदर से मुलाकात

इससे पहले समीर वानखेड़े ने मुंबई में अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष अरुण हलदर से मुलाकात कर उनसे अपने खिलाफ हो रही बयानबाजी की शिकायत की थी। वानखेड़े ने उपाध्यक्ष को अपने दलित होने का सबूत भी सौंपकर मदद की गुहार लगाई थी।


Share