जिग्नेश मेवाणी की गिरफ्तारी पर बोले सरमा – ‘मुझे नहीं पता, वह कौन है?’

जिग्नेश मेवाणी की गिरफ्तारी पर बोले सरमा - 'मुझे नहीं पता, वह कौन है?'
Share

गुवाहाटी (एजेंसी)। गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी के बारे में पूछे जाने पर असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने गुरूवार को कहा कि वो उन्हें नहीं जानते हैं। जिग्नेश मेवाणी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में कथित रूप से आपत्तिजनक ट्वीट के सिलसिले में कल देर रात गिरफ्तार किया गया था और आज गुवाहाटी लाया गया। असम के सीएम बिस्वा ने कहा, मुझे नहीं पता। वह कौन है? जब मैं उन्हें नहीं जानता तो बदले की राजनीति का सवाल ही नहीं उठता?

गुरूवार को असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने गुजरात के कांग्रेस विधायक जिग्नेश मेवाणी की गिरफ्तारी को लेकर कांग्रेस पर भी कटाक्ष किया। कांग्रेस के इस मसले को साजिश कहने के आरोपों पर उन्होंने कहा, कांग्रेस शासित राज्यों में पर्याप्त सबूत होंगे जहां इन चीजों (ट्वीट) को गंभीरता से लिया गया है।

असम के पीसीसी चीफ भूपेन बोरा ने दावा किया कि उस प्राथमिकी का कोई विवरण नहीं दिया गया है जिसके आधार पर मेवाणी को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें सिर्फ इसलिए गिरफ्तार किया गया है क्योंकि वह भाजपा और आरएसएस के मुखर आलोचक हैं। वहीं, असम कांग्रेस के प्रवक्ता ने कहा कि अगर मेवाणी को जमानत पर रिहा नहीं किया गया तो कांग्रेस राज्य भर में विरोध प्रदर्शन करेगी।

राहुल गांधी ने भी साधा निशाना

जिग्नेश मेवाणी की गिरफ्तारी पर राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, मोदी जी आप राज्य की मशीनरी का दुरूपयोग कर असहमतियों को दबाने का प्रयास कर सकते हैं। लेकिन आप सत्य को कैद नहीं कर सकते हैं। अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने डरो मत और सत्यमेव जयते हैशटैग भी दिया था।

क्या है मामला : पीएम नरेंद्र मोदी को लेकर सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के आरोप में गुजरात के दलित नेता जिग्नेश मेवाणी के खिलाफ असम के कोकराझार जिले में मुकदमा दर्ज किया गया था। जिसके बाद असम पुलिस की एक टीम ने मेवाणी को बुधवार रात 11.30 बजे गुजरात के पालनपुर शहर से गिरफ्तार किया। उन्हें गुवाहाटी ले जाया गया ।

और फिर सड़क मार्ग से कोराझार ले जाया गया, जहां उन्हें पुलिस स्टेशन में पेश किया गया और उनकी जमानत याचिका की व्यवस्था की गई।


Share