रंग लाई सरफराज खान की मेहनत, बांग्लादेश के खिलाफ टेस्ट सीरीज में मौका मिलना तय, दूसरी बार रणजी सीजन में 900 से ज्यादा रन ठोके

Sarfaraz Khan's hard work paid off, got a chance in the Test series against Bangladesh, scored more than 900 runs in the Ranji season for the second time
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। घरेलू और मुंबई क्रिकेट के नए ‘रन-मशीन’ सरफराज खान को रणजी ट्रॉफी के पिछले दो सत्रों का इनाम मिलने वाला है। जानकारी के अनुसार 24 वर्षीय खिलाड़ी को नवंबर में बांग्लादेश के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए चुना जाना तय है। दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने बेंगलुरू के चिन्नास्वामी स्टेडियम में मध्य प्रदेश के खिलाफ रणजी ट्रॉफी फाइनल के दूसरे दिन 134 रन बनाए थे।

यह सरफराज का इस रणजी सत्र का चौथा शतक था। इस दौरान उन्होंने छह मैचों में 133.85 की औसत से चार शतक और दो अर्द्धशतक की मदद से 937 रन बनाए हैं। रणजी के इस सत्र में उन्होंने सबसे ज्यादा रन बनाया है और उनके आसपास भी कोई नहीं है। इसके बाद चेतन बिष्ट ने नागालैंड के लिए 623 रन बनाए हैं। 2019-20 सीजन में सरफराज ने छह मैचों 154.66 की औसत और तीन शतकों मदद से 928 रन बनाए थे।

केवल दो बल्लेबाजों ने रणजी सीजन में दो बार 900 से अधिक रन बनाए हैं और अजय शर्मा और वसीम जाफर ने यह करनामा किया है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया है कि मुंबई के इस क्रिकेटर को बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज में मौका मिलेगा। उन्होंने कहा, अब उसे नजरअंदाज करना नामुमकिन है। उनका प्रदर्शन उनकी विशाल क्षमता को बताता है। भारतीय टीम में मौजूद कई खिलाडिय़ों पर दबाव डाल रहा है। जब चयनकर्ता बांग्लादेश टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का चयन करेंगे तो वह चुने जाएंगे। उन्होंने पिछले साल दक्षिण अफ्रीका में भारत ए के लिए अच्छा प्रदर्शन किया था और वह एक शानदार फिल्डर हैं।

दिन का खेल समाप्त होने के बाद राष्ट्रीय चयनकर्ता और भारत के पूर्व बाएं हाथ के स्पिनर सुनील जोशी ने सरफराज के साथ लंबी बातचीत की। इसमें एक अन्य चयनकर्ता भारत के पूर्व तेज गेंदबाज हरविंदर सिंह भी शामिल रहे। इसे लेकर सरफराज ने कहा, यह पहली बार है जब मैंने चयनकर्ताओं से बात की। जोशी और हरविंदर सर से बात करके मुझे अच्छा लगा। वे कह रहे थे कि चंदू सर (एमपी कोच चंद्रकांत पंडित) ने मेरे स्वीप शॉट को ब्लॉक कर दिया था, लेकिन मैंने धैर्य दिखाया और वह शॉट नहीं खेला। सिंगल ले रहा था और दबाव में नहीं आया। उन्होंने मेरी पारी की तारीफ की।

वह टेस्ट टीम में जगह बनाने के करीब हैं, लेकिन बल्लेबाज ने कहा कि वह रन बनाने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। उन्होंने कहा, जहां तक टीम इंडिया के चयन की बात है तो मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं। मेरा फोकस सिर्फ रन बनाने पर है। हर व्यक्ति के सपने होते हैं। बता दें कि सरफराज को आईपीएल में ज्यादा मौका नहीं मिलता। वह आईपीएल 2022 में ऋषभ पंत की अगुवाई वाली टीम का हिस्सा थे, लेकिन कुछ ही मैच खेल सके।


Share