‘अखबार की सुर्खियां पढ़कर मन नहीं बनाना चाहिए’ गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के सवाल पर बोले सचिन पायलट

Sachin Pilot said on the question of Gehlot becoming Congress President, 'Don't make up your mind after reading newspaper headlines'
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। सीएम अशोक गहलोत के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के सवाल पर सचिन पायलट ने बड़ा बयान दिया है। कोच्चि में मीडिया से बात करते हुए सचिन पायलट ने कहा कि ये तो समय बताएगा कांग्रेस अध्यक्ष कौन होगा। पायलट ने कहा कि आने वाले समय में क्या होगा। हमें थोड़ा इंतजार करना चाहिए। क्योंकि 24 सितंबर से नामांकन होंगे और 30 तक नामांकन भर सकेंगे। मधुसूदन मिस्त्री है चुनाव अभियान के अध्यक्ष उन्होंने भी कहा है कि जो व्यक्ति चाहता है अध्यक्ष बनना अपना नामांकन भर सकता है। अनेक राज्यों ने प्रस्ताव पारित किया है कि राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बने। अंतिम निर्णय राहुल गांधी को ही लेना है। कांग्रेस जनों की जो मंशा है वह पीसीसी के माध्यम से एआईसीसी पहुंच चुकी है। अंतिम निर्णय राहुल गांधी का रहेगा। लेकिन हमें इंतजार करना चाहिए कि कौन व्यक्ति नामांकन भरता है। लेकिन देश में इकलौती पार्टी कांग्रेस है जहां पर चुनाव इस तरह के हो रहे हैं।

बोले- गहलोत का जिक्र करने की क्या बात है

सीएम गहलोत का जिक्र नहीं करने के सवाल पर पायलट ने कहा कि जिक्र करने की क्या बात है। ये तो समय बताएगा कौन क्या होगा। लेकिन मैं बता रहा हूं इस चुनाव के माध्यम से कांग्रेस पार्टी मजबूत होकर निकलेगी। भाजपा और बाकि दल चुनाव कराने का दिखावा भी नहीं करते हैं। हम चुनाव करा रहे हैं। सोनिया जी ने भी कहा कि इस चुनाव में हमारे 9 हजार मतदाता है। सब भाग लेंगे। इससे पार्टी मजबूत होगी। शशि थरूर और गहलोत के बीच लड़ाई होने के सवाल पर सचिन पायलट ने कहा कि अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है।

अखबार की सुर्खियां पढ़कर मन नहीं बनाना चाहिए

शशि थरूर और गहलोत के बीच लड़ाई होने के सवाल पर सचिन पायलट ने कहा कि मुझे लगता है अखबार की सुर्खिया पढ़कर अपना मन नहीं बनाना चाहिए। जो सामने आएगा दो-तीन में हम सब को पता लग जाएगा। कांग्रेस के लिए लोकतांत्रिक प्रणाली है उसे ताकत मिलेगी। मबजूती मिलेगी। हमारा लक्ष्य हम हिमाचल, गुजरात और कर्नाटक में चुनाव जीते। राजस्थान में अगले साल चुनाव है। हम चाहते हैं वहां दोबारा कांग्रेस की सरकार बने। सचिन पायलट ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा कांग्रेस पार्टी की ऐतिहासिक यात्रा है। आजाद भारत के इतिहास में शायद ही चंद लोगों ने इतनी बड़ी यात्रा निकालने का जज्बा दिखाया हो। भारत जोडऩे का मतलब है वह तमाम ताकतें जो समाज औऱ देश को तोडऩे का काम कर रही है। उनको मुहतोड़ जवाब मिलेगा। भारत जोड़ो यात्रा में लोगों की भीड़ उमड़ रही है। इससे कांग्रेस पार्टी को ताकत मिल रही है। भाजपा इससे बौखलाई हुई है।


Share