रूस ने यूक्रेन के 5 सैनिकों को मार गिराया, सीमा में घुसने की कोशिश कर रहीं दो गाडिय़ां तबाह

Russia kills 5 Ukrainian soldiers, destroys two vehicles trying to enter the border
Share

मॉस्को/कीव (एजेंसी)। रूस और यूक्रेन के बीच पिछले कई दिनों से जारी तनाव रविवार को अचानक से गर्माता हुआ नजर आ रहा है। खबर आ रही है कि रूस ने यूक्रेन के दो बख्तरबंद वाहनों को तबाह कर दिया है, जो कथित तौर पर सीमा पार करके रूसी क्षेत्र  में घुसने का प्रयास कर रहे थे। रूस की साउदर्न मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट की प्रेस सर्विस के हवाले से रूसी मीडिया में यह दावा किया जा रहा है। जानकारी के अनुसार रूसी सैनिकों और एफएसबी बॉर्डर गार्ड्स ने 5 यूक्रेनी सैनिकों को भी मार गिराया जो अवैध रूप से रूसी सीमा पार करने की कोशिश कर रहे थे। न्यूज एजेंसी आरएनआई ने साउथ मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट के हवाले से बताया, ‘साउदर्न मिलिट्री डिस्ट्रिक्ट की एक यूनिट ने रूसी एफएसबी की सीमा टुकड़ी के साथ मिलकर यूक्रेन की ओर से एक विद्रोही समूह को रूस की सीमा का उल्लंघन करने से रोक दिया।’ खबरों के मुताबिक दो बख्तरबंद वाहनों को भी तबाह कर दिया गया जिसमें यूक्रेन के पांच सैनिकों की मौत हो गई। इस कार्रवाई में रूसी सेना की ओर से किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।

यूक्रेन ने खारिज किए सभी आरोप

कहा जा रहा है कि यह घटना यूक्रेन और रूस के रोस्तोव क्षेत्र के बीच सीमा पर हुई। रूस की सेना ने एंटी-टैंक हथियारों का इस्तेमाल करके यूक्रेनी वाहनों को तबाह कर दिया। रूस के आरोपों के कुछ ही देर बाद ही यूक्रेन के विदेश मंत्री ने इनका खंडन कर दिया। दिमित्रो कुलेबा ने ट्विटर पर कहा कि यूक्रेन ने कुछ नहीं किया है। उन्होंने डोनेट्स्क और लुहान्स्की पर हमले से लेकर रूस पर गोलाबारी, विद्रोहियों को सीमापार भेजने समेत सभी आरोपों को खारिज कर दिया।

रूस ने लगाया था मोर्टार दागे जाने का आरोप

रूस की ओर से लगातार यूक्रेन पर हमले के आरोप लगाए जा रहे हैं। इससे पहले सोमवार को रूस की एफएसबी ने यूक्रेन की ओर से मोर्टार दागे जाने का आरोप लगाया था जिसमें रोस्तोव का बॉर्डर गार्ड पोस्ट तबाह हो गया। रूस ने कहा कि यूक्रेन के क्षेत्र से एक अज्ञात गोला दागा गया जिसने रोस्तोव क्षेत्र में एफएसबी बॉर्डर गार्ड्स के एक सर्विस प्वाइंट को पूरी तरह नष्ट कर दिया जो रूस और यूक्रेन सीमा से 150 मीटर की दूरी पर स्थित था। इसमें कोई हताहत नहीं हुआ।

पुतिन का फॉल्स फ्लैग ऑपरेशन

यूक्रेन ने इन आरोपों का भी खंडन करते हुआ था कि उसके क्षेत्र से रूस पर किसी तरह की गोलाबारी नहीं की गई है। उल्टा यूक्रेन ने आरोप लगाया कि रूसी लड़ाके पूर्वी यूक्रेन में घुस चुके हैं और रूसी सेना की मदद से विद्रोह को भड़काने का प्रयास कर रहे हैं। अमेरिकी अधिकारियों का आरोप है कि इस तरह का ‘फॉल्स फ्लैग’ अभियान रूस को यूक्रेन पर हमला करने का बहाना देगा। ‘फॉल्स फ्लैग’ एक ऐसी सैन्य कार्रवाई होती है जहां पर एक देश छिपकर, जानबूझकर स्वयं की संपत्ति, इंसानी जान को नुकसान पहुंचाता है जबकि दुनिया के सामने वह यह बताता है कि उसके दुश्मन देश ने ऐसा किया है। इसकी आड़ में ऐसा करने वाला देश अपने शत्रु देश पर हमला कर देता है।


Share