तजिंदर बग्गा की गिरफ्तारी पर बवाल, पंजाब पुलिस पर अपहरण का मामला

Ruckus over the arrest of Tajinder Bagga, kidnapping case against Punjab Police
Share

तीन राज्यों की पुलिस उलझी, दिल्ली पुलिस कुरुक्षेत्र से वापस लेकर आई, आप के दफ्तर के बाहर भाजपा का जोरदार प्रदर्शन

चंडीगढ़ (एजेंसी)। दिल्ली भाजपा के नेता तजिंदर बग्गा को हरियाणा पुलिस ने दिल्ली पुलिस को सौंप दिया है। दिल्ली पुलिस बग्गा को लेकर दिल्ली पहुंच गई है। बग्गा को पंजाब पुलिस ने शुक्रवार सुबह दिल्ली से गिरफ्तार किया था। बग्गा को मोहाली कोर्ट में पेश करने के लिए पंजाब लाया जा रहा था। आधे रास्ते में पंजाब पुलिस की गाड़ी को हरियाणा पुलिस ने कुरूक्षेत्र में रोक लिया। उधर, भाजपा कार्यकर्ता आम आदमी पार्टी के दफ्तर के बाहर जोरदार प्रदर्शन किया। वहां पुलिस ने बैरिकेड्स लगाए हैं। भाजपा कार्यकर्ता बैरिकेड्स लांघकर आप के दफ्तर में घुसने की कोशिश कर रहे थे। दिल्ली पुलिस द्वारा बग्गा को साथ में ले जाने के खिलाफ पंजाब सरकार ने हाईकोर्ट में पिटीशन दायर कर दी है। सुनवाई के दौरान पंजाब सरकार ने मांग की कि बग्गा को दिल्ली जाने से रोका जाए। उसे हरियाणा में ही रखा जाए। हाईकोर्ट ने उनकी यह मांग ठुकरा दी। दिल्ली और हरियाणा पुलिस ने पंजाब पुलिस के किसी भी अफसर को डिटेन करने से इनकार किया। इस मामले में हाईकोर्ट ने आज शाम तक दोनों को ऐफिडेविट फाइल करने के लिए कहा है। पंजाब सरकार ने हरियाणा पर गलत तरीके से पंजाब पुलिस को रोकने की बात कही, जिसके जवाब में हरियाणा सरकार ने कहा कि दिल्ली पुलिस के पास दिल्ली कोर्ट का बग्गा को तलाशने का सर्च वारंट था। उनके मैसेज के बाद ही बग्गा और पंजाब पुलिस को कुरूक्षेत्र में रोका गया। इसी आधार पर उन्हें रोका गया। दिल्ली पुलिस का कहना था कि दिल्ली कोर्ट ने बग्गा को तलाशने का सर्च वारंट जारी किया। जिसके बाद कोर्ट को बताया गया कि बग्गा की लोकेशन हरियाणा के कुरूक्षेत्र में थानेसर की आ रही है।

हाईकोर्ट में किसने क्या दलीलें दीं

दिल्ली पुलिस : दिल्ली पुलिस के वकील ने कहा कि साढ़े 8 बजे जनकपुरी थाने में किडनैपिंग का केस दर्ज हुआ। पुलिस वाले सादी वर्दी में आए और जबरन अंदर घुसकर बग्गा को उठा ले गए। पुलिस ने किडनैपिंग का केस दर्ज कर दिल्ली कोर्ट से सर्च वारंट लिया। कोर्ट ने बग्गा को ढूंढ कोर्ट में पेश करने को कहा। उसे हमने हरियाणा पुलिस को भेजा। जिसके बाद कुरूक्षेत्र में सर्च वारंट को लागू किया। हमने किसी को डिटेन नहीं किया है। पंजाब पुलिस के कर्मचारी अपनी मर्जी से दिल्ली के थाने में बैठे हैं। दिल्ली पुलिस को पता नहीं था कि बग्गा को क्यों गिरफ्तार किया गया है।

पंजाब पुलिस : पंजाब के एडवोकेट जनरल अनमोल रतन सिद्धू ने कहा कि बग्गा के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उसकी याचिका पर कोई स्टे नहीं हुआ। बग्गा ने अग्रिम जमानत भी नहीं ली। हमने दिल्ली पुलिस को सूचना दी थी लेकिन जानबूझकर उसे रिकॉर्ड नहीं किया गया। दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर हरियाणा पुलिस पंजाब पुलिस के 3 एसपी और एक आईजी को पुलिस थाने ले गए। पंजाब पुलिस के अफसरों को डिटेन किया गया। दिल्ली पुलिस हमारी लीगल कस्टडी से बग्गा को छुड़ाकर ले गई। अब पंजाब पुलिस दिल्ली कोर्ट में जाकर उसे कस्टडी में लेकर आएंगे।

हरियाणा पुलिस : हरियाणा पुलिस के वकील चेतन मित्तल ने कहा कि सादे कपड़े में आतंकवादी की तरह बग्गा को पकड़ा गया। दिल्ली पुलिस से जो सर्च वारंट भेजा गया, उसे लागू किया गया। हाईकोर्ट में पंजाब पुलिस कहीं यह नहीं बता सकी कि वह दिल्ली गए तो इस बारे में दिल्ली पुलिस को सूचना कैसे दी गई?। उसका कोई रिकॉर्ड पेश नहीं कर सकी। उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस ने पंजाब पुलिस के किसी भी अफसर या कर्मचारी को डिटेन नहीं किया।

पंजाब पुलिस पर दिल्ली में 2 केस दर्ज

दिल्ली पुलिस ने तजिंदर बग्गा मामले में पंजाब पुलिस पर 2 केस दर्ज किए हैं। पंजाब पुलिस के वकील आरके राठौर ने बताया कि पहला केस किडनैपिंग का दर्ज किया गया है। दूसरा केस बग्गा के पिता के बयान पर मारपीट का दर्ज किया गया है। पंजाब पुलिस के डीएसपी समेत 4 कर्मचारियों को दिल्ली पुलिस ने डिटेन किया गया है।

केजरीवाल को धमकी देने के मामले में कार्रवाई

बग्गा पर फिल्म कश्मीर फाइल्स को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर विवादित टिप्पणी करने का आरोप है। पंजाब पुलिस ने बग्गा को जांच में शामिल होने का नोटिस दिया था, लेकिन वे इसके लिए नहीं पहुंचे थे।

‘5 बार नोटिस भेजा, दिल्ली पुलिस को सूचना भी दी’

मोहाली के डीएसपी सुखनाज सिंह का कहना है कि तजिंदर बग्गा को 5 बार ऑन रिकॉर्ड नोटिस भेजकर जांच जॉइन करने को कहा था। हर बार यह टाल रहे थे। कोर्ट के आदेश के हिसाब से हमने पहले बग्गा को नोटिस दिया था। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया। इस बारे में दिल्ली पुलिस के एसएचओ को भी सूचना दी थी। गिरफ्तारी के लिए जब एक पार्टी बग्गा के घर पहुंची तो उसके बराबर दूसरी पार्टी पुलिस थाने पहुंची थी। इसके अलावा कंट्रोल रूम में भी सूचना दी थी। इसकी रिकॉर्डिंग भी हमारे पास मौजूद है। गिरफ्तारी की प्रक्रिया की हमने वीडियोग्राफी करवाई है।


Share