घायलों को हॉस्पिटल पहुंचाने वाले को मिलेगा इनाम- राजस्थान सरकार 5 हजार रुपए और सर्टिफिकेट देगी

राजस्थान में सरकार गिराने का खेल फिर शुरू हो रहा
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में आए दिन होती सड़क दुर्घटनाओं में कई लोग घायल होते हैं। घायलों की मदद के लिए आगे आने से लोग कतराते है। सभी पुलिस और सरकारी एम्बुलेंस का इंतजार करते रहते हैं। इस कारण घायलों को समय पर इलाज नहीं मिलने से जान भी चली जाती है। ऐसी स्थिति देखते हुए राजस्थान सरकार ने नई योजना शुरू की है। इस योजना में घायलों को जल्द से जल्द अपने संसाधन से हॉस्पिटल पहुंचाने वाले व्यक्तियों को सरकार 5 हजार रूपए और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करेगी।

सीएम अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी जीवन रक्षा योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत घायल व्यक्ति की मदद करने वाले व्यक्ति से किसी तरह की कोई पूछताछ पुलिस नहीं कर सकेगी। साथ ही मदद करने वाले व्यक्ति से हॉस्पिटल में घायल व्यक्ति के इलाज के लिए किसी तरह का कोई पैसा भी नहीं लिया जाएगा।

गंभीर स्थिति में लाने वाले व्यक्ति को मिलेगा इनाम

इस योजना के तहत इनाम की राशि उसी स्थिति में मिलेगी जब दुर्घटना में घायल व्यक्ति की स्थिति गंभीर हो। सामान्य घायल होने वाले व्यक्ति की मदद करने वाले को केवल प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा। सरकारी एम्बुलेंस, निजी एम्बुलेंस के कर्मचारी, पीसीआर वैन और ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मचारियों और घायल व्यक्ति के सगे-संबंधियों को इस योजना के तहत इनाम राशि नहीं दी जाएगी।

सीएमओ को देनी होगी जानकारी

घायल व्यक्ति की मदद करने वाले व्यक्ति अगर इस योजना के तहत इनाम राशि लेने का इच्छुक है तो उसे अपनी पूरी जानकारी हॉस्पिटल में तैनात कैजुअल्टी मेडिकल ऑफिसर (सीएमओ) को देनी होगी। वहां उस व्यक्ति को अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर और बैंक खाता संख्या देना होगा। सीएमओ की रिपोर्ट पर ही तय होगा कि व्यक्ति गंभीर रूप से घायल था या नहीं और उसे तुरंत इलाज की जरूरत थी या नहीं? सीएमओ ही रिपोर्ट तैयार करके डायरेक्टर (पब्लिक हेल्थ) को भिजवाएगा, इसी आधार पर पुरस्कार मिलेगा।


Share