नीट पीजी काउसलिंग को लेकर रेजिडेंट उतरे हड़ताल पर

Residents went on strike regarding NEET PG counseling
Share

ओपीडी, आईपीडी व इलेक्ट्रीवीटी का बहिष्कार करने से रोगियों को हुई परेशानी

उदयपुर. नगर संवाददाता & नीट पीजी काउसलिंग शीघ्र कराने की मांग को लेकर देशव्यापी आंदोलन के तहत सोमवार को आरएनटी मेडिकल कॉलेज के रेजिडेन्ट डॉक्टरों ने ओपीडी, आईपीडी व इलेक्ट्रीवीटी का बहिष्कार किया और केन्द्र सरकार को चेतावनी दी कि 31 दिसम्बर को मांग पूरी नहीं हुई तो आन्दोलन उग्र किया जायेगा। इधर चिकित्सालय प्रबंधन ने सभी सीनियर चिकित्सकों की ड्यूटी लगा दी है और मरीजों के लिए व्यवस्था कर रहे है।

आरएनटी मेडिकल कॉलेज के रेजिडेन्ट डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष नवरतन शर्मा के नेतृत्व में करीब 260 करीब रेजिडेन्ट डॉक्टर्स हड़ताल पर रहे। रेजिडेन्ट डॉक्टर्स ओपीडी, आईपीडी व इलेक्ट्रीवीटी का बहिष्कार किया जिससे रोगियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। रेजिडेन्ट डॉक्टर्स के हड़ताल पर उतर जाने से सीनियर डॉक्टर्स ने व्यवस्था को सम्भाला। अध्यक्ष ने केन्द्र सरकार से मांग की कि जूनियन रेजिडेन्ट की दिसम्बर तक ज्योईनिंग करवाए। यदि शाम तक मांग पर निर्णय नहीं किया तो मंगलवार को सम्पूर्ण कार्य का बहिष्कार किया जायेगा।

एसोसिएशन के प्रवक्ता डॉ. मनोज मेहरा ने बताया कि पिछले 15 दिनों से केन्द्र सरकार से रेजिडेन्ट के हितों के लिये ध्यान आकर्षित कर रहे है। जूनियर 66 प्रतिशत काम कर रहे है। केन्द्र सरकार जल्दी से जल्दी हमारी मांग को सुने। हम काली पट्टी बांधकर ज्ञापन देकर अपनी बात रखते आ रहे है लेकिन अदालती तारीखों में मामले का उलझाया जा रहा है। अखिल भारतीय स्तर पर विरोध प्रदर्शन हो रहा है। सोमवार शाम को केन्द्र सरकार की ओर से कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला तो मंगलवार से ओपीडी, आईपीडी, इमरेन्सी, ट्रोमा, लेबर रूम सहित सभी कार्यो का बहिष्कार किया जायेगा। 31 दिसम्बर तक रेजिडेन्ट की नीट पीजी काउसलिंग कराई जाये। उधर मौसमी बिमारियों के चलते अस्पताल में रोगियों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। ऐसे में सोमवार को आउटडोर में सीनियर डॉक्टर्स ने व्यवस्थाओं को संभाला फिर भी व्यवस्थाएं प्रभावित हुई।


Share