रीट परीक्षा – अब निजी बस में भी परिवहन नि:शुल्क होगा- हथियार बंद पुलिस बलों की होगी तैनातगी

रीट परीक्षा - अब निजी बस में भी परिवहन नि:शुल्क होगा- हथियार बंद पुलिस बलों की होगी तैनातगी
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश में 26 सितंबर को होने वाली राज्य की अब तक की सबसे बड़ी परीक्षा अध्यापक पात्रता परीक्षा (रीट) 2021 में परीक्षार्थियों को अब निजी बसों में भी परीक्षा के लिए मुफ्त सफर की सुविधा प्रदान करने की घोषणा की है।

शिक्षा मंत्री गोङ्क्षवद ङ्क्षसह डोटासरा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश की सबसे बड़ी परीक्षा रीट 2021  में अभ्यर्थियों के हित में संवेदनशील फैसला लेते हुए रीट परीक्षार्थियों  के लिए रोडवेज के साथ ही निजी बसों में भी मुफ्त सफर की घोषणा की  है। गहलोत ने रीट परीक्षा की तैयारियों की समीक्षा बैठक में यह निर्णय किया। मुख्यमंत्री की इस घोषणा से इस परीक्षा में शामिल होने वाले 16 लाख से अधिक अभ्यर्थियों को आने जाने में सभी बसों में नि:शुल्क सुविधा मिलेगी। बैठक में गहलोत ने रीट परीक्षा के सफल आयोजन के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उल्लेखनीय है कि इससे पहले राज्य सरकार ने इस परीक्षा के लिए रोडवेज बस में परीक्षार्थियों के आने जाने के लिए नि:शुल्क सुविधा प्रदान करने की घोषणा की थी।

राजस्थान में अब तक की सबसे बड़ी प्रतियोगी परीक्षा ‘रीट’ के लिए प्रत्येक परीक्षा केन्द्र, संग्रहण स्थानों एवं प्रश्न पत्रों निर्गमन के लिए हथियारबन्द पुलिस बल तैनात किए जाएंगे।

अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस (कानून-व्यवस्था) सौरभ श्रीवास्तव ने बताया कि परीक्षा के दिन महत्वपूर्ण स्थानों पर पुलिस की उपस्थिति एवं गश्त की उचित व्यवस्था की जायेगी। जिलों में कानून एवं यातायात व्यवस्था सुचारू रूप से संचालित करने हेतु जिला पुलिस को पृृथकत: पांच होमगार्ड स्वयंसेवक, 500 बोर्डर होमगार्ड स्वयंसेवक एवं लगभग 50 कम्पनी आर.ए.सी., एम.बी.सी, एसडीआरफ, हाडीरानी बटालियन उपलब्ध कराई जा रही है।

श्रीवास्तव ने बताया कि रीट परीक्षा के दौरान नकल रोकने के संबंध में पुलिस मुख्यालय स्तर से आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये जा चुके है तथा एस.ओ.जी. एवं जिला पुलिस द्वारा पूर्ण निगरानी एवं सतर्कता रखी जा रही है।

जी.आर.पी. को सशक्त बनाने हेतु एवं रेल्वे स्टेशनों पर सुरक्षा के लिए कम्पनी 1 प्लाटून आर.ए.सी., 650 पुलिस बल एवं 500 होमगार्ड स्वयंसेवक का जाप्ता पृृथक से दिया जा रहा है। इसके साथ ही समस्त जिलों से उनकी मौजूदा नफरी का 70 से 75 प्रतिशत का बल इस ड्यूटी हेतु नियोजित किया जा रहा है।


Share