राजस्थान में कोरोना से रेकॉर्ड 28 मरीजों ने तोड़ा दम- मिले 5528 नए संक्रमित

अब कोरोना कोरोना को हराया भारत
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। प्रदेश में बुधवार को भी कोरोना का कहर बरकरार रहा। अब रेकॉर्ड 28 मौतें दर्ज की गई है। जिनमें सर्वाधिक 4-4 मौतें कोटा, जोधपुर और उदयपुर जिले में सामने आई हैं। जयपुर और पाली में 3-3, बाड़मेर और नागौर में 2-2 सहित अजमेर, बूंदी, चित्तोडगढ़़, धोलपुर, झालावाड़ और टोंक जिले में एक-एक संक्रमित की मौत पिछले 24 घंटे के दौरान हुई है। नए संक्रमितों की संख्या मंगलवार की तुलना में मामूली गिरावट के साथ 5528 रही है। जयपुर जिले में प्रदेश के सर्वाधिक और अब तक के किसी भी जिले के रेकार्ड 989 मामले मिले हैं। जोधपुर 770, उदयपुर 729 और कोटा 616 भी मामलों के साथ संक्रमण के अत्यधिक खतरे पर बने हुए हैं। कुल संक्रमित अब 375092 और कुल मृतक 2979 हो गए हैं।

जयपुर में सर्वाधिक 7478 एक्टिव मामले

एक्टिव केस अब पहली बार 40 हजार पार कर 40690 हो गए हैं। 24 घंटे में ही 4229 एक्टिव मामले बढ़े हैं। जयपुर जिले में सर्वाधिक 7478 एक्टिव केस मौजूद हैं। 5711 जोधपुर, 4922 उदयपुर, 3693 कोटा और 2130 भीलवाड़ा जिले में एक्टिव मामले मौजूद हैं।

3 जिलों में 200 और 8 में 100 से ज्यादा संक्रमित

प्रदेश में पहली बार एक दिन में 15 जिले ऐसे रहे हैं जहां 100 से अधिक मामले मिले हैं। इनमें 4 में 500, 3 में 200 और 8 जिलों में 100 से अधिक नए मामले मिले हैं।

यहां मिले संक्रमित

जयपुर 989, जोधपुर 770, उदयपुर 729, कोटा 616, अजमेर 239, पाली 206, डूंगरपुर 201, अलवर 187, भीलवाड़ा 177, चित्तोडगढ़़ 159, राजसमंद 153, सिरोही 140, बारां 110, बीकानेर 107, टोंक 101, सीकर 93, नागौर 58, प्रतापगढ़ 66, भरतपुर 57, करौली 54, झालावाड़ 49, धोलपुर 47, दौसा 39, बांसवाड़ा 35, गंगानगर 28, सवाईमाधोपुर 27, बूंदी 29, झुंझुनूं 16, हनुमानगढ़ 15, जैसलमेर 15, बाड़मेर 14, जालोर 2 संक्रमित मिले।

रिकवरी दर गिरकर 90% पर आई

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में वैश्विक महामारी कोरोना की दूसरी लहर तेजी से फैलने से करीब दो सप्ताह में संक्रमण की दर बढ़कर करीब 22 प्रतिशत तक पहुंच गई हैं।  चिकित्सा विभाग से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार गत एक अप्रैल तक कोरोना की दूसरी लहर में नये मामले एक दिन में एक हजार को पार गये थे और इसके बाद लगातार बढ़ते हुए सोमवार तक यह 5771 तक पहुंच गये जो अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। गत एक अप्रैल को 1350 नये मामले आने से संक्रमण की दर 3़ 68 प्रतिशत थी जो 12 अप्रैल को बढ़कर 21़ 92 प्रतिशत तक पहुंच गई। इस दौरान कोरोना मरीजों की संख्या में जहां काफी इजाफा हुआ वहीं इससे मरने वालों की संख्या भी बढ़ गई। इन करीब दो सप्ताह में 133 लोगों की जान चली गई। इनमें सोमवार को सबसे ज्यादा 25 लोगों की मौत हुई। इससे प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 2951 पहुंच गई।  अप्रैल में कोरोना संक्रमित मामलों में ज्यादा बढ़ोत्तरी होने से ठीक होने वाले मामलों में गिरावट आई और रिकवरी रेट गिरकर करीब 90 प्रतिशत पर आ गई जबकि इससे पहले यह दर लगभग 97 प्रतिशत थी। कोरोना की दूसरी लहर आने से पहले कोरोना जब सबसे ज्यादा फैला हुआ था तब सक्रिय मरीजों की संख्या तीस हजार तक नहीं पहुंच पाई थी लेकिन इस बार दूसरी लहर में इन दो सप्ताह में ही सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 36 हजार 441 तक पहुंच गई।

राज्य में अब तक 74 लाख 25 हजार 270 लोगों के नमूनों की जांच की गई जिनमें 3,69,564 कोरोना मरीज पाये गये जिनमें अब तक  3,30,172 ठीक हो चुके हैं और अब 36,441 सक्रिय मरीज है।


Share