लद्दाख में आर-पार की जंग लडऩे को हैं तैयार

एलएसी पर पुख्ता तैयारी करने में जुटी आईटीबीपी
Share

श्रीनगर (एजेंसी)। पूर्वी लद्दाख में चीन से तनातनी के हालातों के बीच भारतीय सेना ने बुधवार को एक बड़ा बयान देते हुए चीन को स्पष्ट संदेश देने की कोशिश की है। चीनी मीडिया में भारतीय सेना की अधूरी तैयारियों के दावे वाली खबरों के चलने के बाद भारतीय सेना ने कहा है कि वह किसी भी स्थिति में सामरिक हालात से निपटने में पूरी तरह से तैयार है। बुधवार को अपने एक बयान में भारतीय सेना ने कहा कि सर्दी के मौसम में अगर जंग के हालात बन जाते हैं, तो चीन का सामना भारत की एक ऐसी सेना से होगा जो कि सक्षम और सशक्त रूप में उनके सामने खड़ी होगी।

भारतीय सेना ने अपने आधिकारिक बयान में कहा कि चीन जिस सेना के बल पर प्रोपोगैंडा फैला रहा है, उसके जवानों को फील्ड और ऊंचे इलाकों में जंग का कोई अनुभव नहीं है। ये लोग शहरी इलाकों से आते हैं और इन्हें जमीनी हालात का कोई अंदाजा नहीं। बुधवार को बयान में सेना की उत्तरी कमान के प्रवक्ता ने कहा कि अगर सर्दी के मौसम में पूर्वी लद्दाख में जंग जैसे हालात बन भी जाते हैं, तो भारतीय सेना इसके लिए पूरी तरह से तैयार और सक्षम दिखेगी। प्रवक्ता ने कहा, भारत एक शांतिप्रिय देश है और हम चाहते हैं कि पड़ोसियों से हमारे रिश्ते हमेशा ही बेहतर रहें। हम हमेशा बातचीत के जरिए मसलों को हल करना चाहते हैं। ऐसे वक्त में जब भारत और चीन के मध्य कूटनीतिक स्तरों पर बातचीत हो रही है, उस वक्त में भी हम सैन्य मोर्चे पर पूरी तरह से तैयार हैं।

हर स्थिति के लिए शॉर्ट नोटिस पर भी तैयार

प्रवक्ता ने कहा कि लद्दाख रेंज के तमाम इलाके उच्चतम पर्वतीय क्षेत्रों में आते हैं। इस इलाके में नवंबर के महीने में भारी बर्फबारी होती है। इसके अलावा यहां न्यूनतम तापमान -30 से -40 डिग्री के आसपास पहुंच जाता है। ठंड की इन स्थितियों में कई बार लद्दाख को जोडऩे वाले तमाम रास्ते भी बंद हो जाते हैं। लेकिन इन सब स्थितियों के बावजूद ये जानना जरूरी है कि भारतीय सेना ऐसी स्थितियों से निपटने में पूरी तरह से सक्षम है। हमारे पास ऐसे इलाकों में ड्यूटी करने का एक लंबा अनुभव रहा है और हम एक शॉर्ट नोटिस पर भी किसी भी स्थिति में जाने के लिए पूरी तरह से तैयार रहते हैं।

हमारे पास सियाचिन जैसे रणक्षेत्र का भी अनुभव

सैन्य प्रवक्ता ने कहा कि दुनिया को यह याद रखना चाहिए कि हमारे पास सियाचिन जैसे मुश्किल रणक्षेत्रों में जंग लडऩे का अनुभव है। चीन के ग्लोबल टाइम्स ने यह दावा किया था कि भारतीय सेना लद्दाख के हालातों में लॉजिस्टिक कैपेबिलिटी के हिसाब से कम तैयार है। ऐसे में यह स्पष्ट करना जरूरी है कि लद्दाख के तमाम इलाकों में पहले से ही सेना के लिए स्वास्थ्य, राशन, हथियार, कपड़ों, जरूरी उपकरणों समेत सभी जरूरी चीजों का पुख्ता इंतजाम किया जा चुका है। इसके अलावा मई में बिगड़े हालातों के बाद से ही इस इलाके में इन सभी चीजों की अतिरिक्त व्यवस्था पहले ही कर दी गई है।


Share