RBSE ने छात्रों के लिए तैयार किया नंबरों का फॉर्मूला – पिछली दो क्लास के आधार पर बने रिजल्ट

राजस्थान बोर्ड (RBSE) ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द
Share

बीकानेर (कार्यालय संवाददाता)। आरबीएसई छात्रों के लिए नंबरों का फॉर्मूला तैयार कर मंगलवार को शिक्षा मंत्री डोटासरा के पास भेज दिया गया है। इसमें पिछली दो कक्षाओं के नंबरों के आधार पर 10वीं और 12वीं के नंबर दिए जाएंगे। अगर कोई छात्र नंबरों से संतुष्ट नहीं होता है तो राज्य का शिक्षा विभाग छात्र का एग्जाम भी लेगा और कॉपी चेक होने पर मार्कशीट देगा। वहीं, प्राइवेट फार्म भरने वाले किसी भी स्टूडेंट को प्रमोट नहीं किया जायेगा, बल्कि उसे एग्जाम देना ही होगा। सीबीएसई ने भी यही व्यवस्था की है, जिसकी पूर्ण पालना राज्य का शिक्षा विभाग करने जा रहा है। जिस पर अंतिम घोषणा सरकार करेगी।

दरअसल, प्राइवेट स्टूडेंट्स की 9वीं की मार्किंग नहीं है। ऐसे में उन्हें एग्जाम ही देना होगा। राज्य सरकार की ओर से गठित 12 सदस्यीय मार्किंग कमेटी ने अपनी रिपोर्ट ये सिफारिश की है, जिसका स्वीकार होना तय माना जा रहा है। सब कुछ ठीक रहा तो यह परीक्षा अगस्त के दूसरे या तीसरे सप्ताह में आयोजित हो सकती है।

आरबीएसई के 10वीं और 12वीं के छात्रों को नंबर देने के लिए बनी प्रदेश स्तरीय समिति ने अपनी रिपोर्ट शिक्षा मंत्री गोविन्द डोटासरा को सौंप दी है। कमेटी की ओर से तय फार्मूला एक-दो दिन में ही सार्वजनिक कर दिया जाएगा। इसके बाद अगस्त के पहले सप्ताह तक छात्रों को मार्कशीट देने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। दरअसल, फार्मूला तय होने के बाद सभी स्कूल अपने छात्रों के नंबर सरकार को भेजेंगे। वहीं 12वीं क्लास के प्रैक्टिकल एग्जाम भी होंगे। यह सभी काम करीब एक महीने में पूरे होंगे।

राज्य सरकार की कोशिश है कि जुलाई के अंतिम सप्ताह तक ही परिणाम तैयार कर लिए जाएं और अगस्त के पहले सप्ताह तक स्टूडेंट को मार्कशीट उपलब्ध करवा दी जाएं। इस समिति ने सीबीएसई के साथ ही कई राज्यों की मार्किंग पॉलिसी का अध्ययन करने के बाद अपनी रिपोर्ट तैयार की है। इस बात का विशेष ध्यान रखा गया है कि राजस्थान के स्टूडेंट्स को अन्य राज्यों के बड़े विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों में प्रवेश लेते हुए परेशानी ना हो।


Share