राउत की जमानत याचिका पर 27 सितंबर से होगी सुनवाई

Sanjay Raut's judicial custody extended till October 21
Share

मुंबई। पात्रा चाल जमीन घोटाले में गिरफ्तार शिवसेना के नेता एवं सांसद संजय राउत की जमानत याचिका पर धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलएल) संबंधी मामलों की सुनवाई कर रही विशेष अदालत 27 सितंबर से सुनवाई शुरू करेगी। इस मामले में सह-आरोपी व राउत के करीबी सहयोगी प्रवीण राउत की जमानत याचिका पर सुनवाई कोर्ट 23 सितंबर तक पूरी कर सकती है। इसके बाद ही 27 सितंबर से राउत की जमानत अर्जी पर सुनवाई शुरू होगी। पहले सुनने में आया था कि कोर्ट 21 सितंबर से सुनवाई करेगी, लेकिन अब इसकी तारीख आगे बढ़ा दी गई है। मालूम हो कि पात्रा चाल पुनर्विकास परियोजना में कथित अनियमितताओं से जुड़े धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने संजय राउत के घर पर छापेमारी की थी, जिसके बाद उन्हें एक अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया था और वह आठ अगस्त तक ईडी की ही हिरासत में थे। तब से लगातार उनकी न्यायिक हिरासत बढ़ती जा रही है। सोमवार को उनकी न्यायिक हिरासत 14 और दिन के लिए बढ़ा दी गई। गौरतलब है कि अभी कुछ दिनों पहले ही उन्होंने पीएमएलएल कोर्ट में जमानत के लिए अर्जी दाखिल की थी। उस वक्त राउत ने कहा था कि उनकी गिरफ्तारी राजनीतिक बदले की भावना से की गई है। जबकि इडी ने संजय राउत को दोषी ठहराते हुए कहा है कि उनके पास राउत के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं। जांच एजेंसी ने संजय राउत की जमानत याचिका का यह कहते हुए विरोध किया है कि इस केस से संबंधित मनी लाड्रिंग मामले में उनकी अहम भूमिका रही है और उन्होंने ये सारा कुछ पर्दे के पीछे रहकर किया है। इडी का कहना है कि इस पूरे मामले में वह (संजय राउत) पर्दे के पीछे से काम कर रहे हैं और प्रवीण राउत फ्रंटमैन बने हुए हैं।


Share