मंत्री पुत्र पर रेप का मामला – राजस्थान नहीं दिल्ली पुलिस करेगी जांच, नहीं चलेगा रसूख, हो सकेगा गिरफ्तार

गहलोत के मंत्री के बेटे पर रेप का आरोप
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। जलदाय मंत्री महेश जोशी के बेटे रोहित जोशी की मुश्किलें बढ़ गई हैं। रोहित के खिलाफ रेप केस की जांच अब दिल्ली पुलिस ही करेगी। दिल्ली के सदर बाजार पुलिस थाने में सोमवार को रोहित जोशी के खिलाफ रेप का केस दर्ज कर लिया गया है। महिला पुलिस अधिकारी को जांच सौंपी है। रविवार को सदर बाजार पुलिस थाने में जीरो नंबरी एफआईआर दर्ज कर सवाईमाधोपुर महिला थाना भेजने का फैसला किया था, लेकिन आज पूरे मामले में नया मोड़ आ गया। अब दिल्ली पुलिस ने खुद मामले की जांच शुरू कर दी है। दिल्ली पुलिस सूत्रों के अनुसार पीडि़त युवती के मजिस्ट्रेट के सामने 164 के बयान करवाए गए। रोहित जोशी के खिलाफ रेप, अननेचुरल सेक्स, ब्लैकमेलिंग, मारपीट करने सहित गंभीर आरोपों में सात धाराओं में मामला दर्ज हुआ है। सदर बाजार पुलिस स्टेशन में 338 नंबर की एफआईआर में 376, 377, 366, 312, 506, 509 के तहत मुकदमा दर्ज हुआ है।

कभी भी हो सकती है रोहित जोशी की गिरफ्तारी

रोहित जोशी के खिलाफ रेप का केस दर्ज होने के बाद अब 164 के बयान भी दर्ज हो रहे हैं। युवती के 164 के बयान दर्ज होने के बाद अब रोहित जोशी को गिरफ्तार करने के लिए दिल्ली पुलिस कभी भी जयपुर आ सकती है। युवती का पहले ही दिल्ली के हिंदूराव हॉस्पिटल में मेडिकल करवा लिया था। मेडिकल रिपोर्ट के बाद ही दिल्ली पुलिस ने पहले जीरो नंबर की स्नढ्ढक्र दर्ज कर उसे सवाईमाधोपुर भेजने का प्रोसेस शुरू किया था, लेकिन आज वहीं केस दर्ज कर लिया।

दिल्ली पुलिस केंद्र के अधीन

दिल्ली पुलिस केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन है। केंद्र में भाजपा की सरकार है, इसलिए इस मामले में मौजूदा राजनीतिक हालात को देखते हुए मंत्री महेश जोशी से लेकर वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं का प्रभाव काम नहीं करेगा। पीडि़ता ने दिल्ली पुलिस को दी गई शिकायत में मंत्री महेश जोशी से जान का खतरा बताते हुए उनके प्रभाव के कारण राजस्थान में निष्पक्ष जांच पर संदेह जताया था। अब इस मामले की जांच में राजस्थान पुलिस का कोई दखल नहीं रहेगा।़


Share