राजस्थान : गर्मी ने किया बेहाल – गंगानगर में 45.1, चूरू में 43 डिग्री रहा तापमान, कई जिलों में लू का रेड अलर्ट

1945 के बाद कल राजधानी में टूटा गर्मी का रिकॉर्ड ; राजस्थान, पंजाब को भी गर्मी ने झुलसाया
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म होने के बाद एक बार फिर से गर्मी ने कहर दिखाना शुरू कर दिया है। बुधवार को दिनभर उमस भरा मौसम रहा। सुबह से ही तेज धूप से उमस बनी रही। अधिकतर शहरों में 40 डिग्री से ऊपर तापमान पहुंच गया है। गंगानगर में 45.1 डिग्री, चूरू में 43 डिग्री व हनुमानगढ़, बाडमेर, बीकानेर में 42 डिग्री तापमान तो जयपुर में 41.4,अलवर में 42, भीलवाड़ा, अजमेर में 39 डिग्री तापमान दर्ज हुआ है। चिलचिलाती धूप लोगों को बेहाल करने लगी है, राहत की बात ये हैं कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से राजस्थान में मानूसन जल्दी आने की संभावना बनी हुई है। पश्चिमी राजस्थान में तेज हवाएं चलेंगी। ये मानूसन को आगे बढ़ाने में मदद करेंगी।

कूलर भी हुए बेअसर

मेवाड़ में पिछले कुछ दिनों तक पश्चिमी विक्षोभ के कारण बादल छाए रहे थे और गर्मी नहीं थी। अब पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म होने पर गर्मी ने तेवर दिखाने शुरू कर दिए है। तेज गर्मी में कूलर भी अब बेअसर होने लग गए है। कूलर चलाने से उमस अधिक बढ़ रही है। धूप और नमी ने उमस अधिक बढ़ा दी है। पश्चिमी राजस्थान के ऊपर प्रेशर ग्रेडियंट फोर्स बन रहा है जिससे जोधपुर और बीकानेर संभाग में तेज हवाएं चलने की संभावना है।

कई जिलों में लू का रेड अलर्ट

मौसम विभाग के अनुसार राजस्थान के कई जिलों में लू का रेड अलर्ट जारी किया है। चूरू, सीकर, गंगानगर, हनुमानगढ़, बीकानेर, बाडमेर, भरतपुर, धौलपुर व करौली में तीन से चार दिन तक तेज हवाएं चलेगी। इन हवाओं की गति 30 से 35 किमी प्रति घंटे रह सकती है। हवा की तेज गति के कारण आसमान में धूल भी छाई रहेगी।

इस बार सामान्य रहेगा मानसून

राजस्थान में मानसून सामान्यत: जून के आखिरी दिनों में प्रवेश करता है। मानसून के इस बार सामान्य रहने की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग के अनुसार दो से तीन दिन के बाद बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से मानसून को आगे बढऩे में मदद मिलेगी। 14 जून से राजस्थान के कई जिलों में हल्की बारिश होने की संभावना बताई जा रही है। इससे लोगों को गर्मी से राहत मिलेगी।


Share