राजस्थान राज्यसभा चुनाव, भाजपा भी गई ‘बाड़े’ में : 4 दिन तक होटल में ‘प्रशिक्षण’ लेंगे भाजपा विधायक, बाड़ेबंदी की हमें नहीं बल्कि उनको जरूरत, जो सरकार चला रहे : कटारिया

राजस्थान राज्यसभा चुनाव, भाजपा भी गई 'बाड़े’ में : 4 दिन तक होटल में 'प्रशिक्षण’ लेंगे भाजपा विधायक, बाड़ेबंदी की हमें नहीं बल्कि उनको जरूरत, जो सरकार चला रहे : कटारिया
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राज्यसभा चुनाव के मतदान की तारिख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे ही दोनों राजनीतिक दलों की टेंशन बढ़ती जा रही है। कांग्रेस के बाद आज भाजपा ने अपने विधायकों को प्रशिक्षण के नाम पर अगले 4 दिन जयपुर के एक होटल में भेजा है। इस दौरान भाजपा के सीनियर विधायक और नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने गहलोत सरकार पर कमेंट किया है। उन्होंने कहा कि बाड़ेबंदी हमें नहीं बल्कि उनको करनी पड़ रही है। जो राज्य में सरकार चला रहा है। कटारिया ने कहा कि जिस तरह 2 तारीख को ही मुख्यालय छोड़कर 400 किलोमीटर दूर विधायकों को बंद करना पड़ा विधायकों के मोबाइल, इंटरनेट बंद करने पड़े। ये बताता है कि उनको अभी डर है। उन्होंने कहा कि अगर हमें डर होता तो हम इतने ओपन में थोड़ी प्रशिक्षण शिविर करते। हम भी कहीं राज्य से दूर विधायकों को लेकर चले जाते। बता दें कि भाजपा ने अपने प्रत्याशी के तौर पर सीनियर नेता घनश्याम तिवाड़ी को मैदान में उतारा है, जबकि निर्दलीय प्रत्याशी सुभाष चंद्रा को समर्थन दिया है।

2 बसों में होटल देवी रत्न भेजा

भाजपा मुख्यालय पर सभी विधायकों के जुटने के बाद उन्हें 2 बसों के जरिए जयपुर के आगरा रोड जामडोली के आगे होटल देवीरत्न ले जाया गया। यहां राज्यसभा चुनाव प्रभारी और केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और भाजपा प्रदेश प्रभारी अरूण सिंह, प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनयां, संगठन महामंत्री चन्द्रशेखर, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, नेताप्रतिपक्ष गुलाब चन्द कटारिया, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ सभी विधायकों से देर शाम होटल में मुलाकात करेंगे। इन 4 दिनों में 13 सत्र होंगे, जिसमें विधायकों की मीटिंग लेंगे।

10 जून को होने वाली वोटिंग के लिए दिए जाने वाले इस प्रशिक्षण में पार्टी की कोशिश अपने 71 विधायकों के अलावा 3 राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) के अलावा 2 बीटीपी और कुछ निर्दलीय विधायकों को भी साथ लेने की रहेगी। क्योंकि भाजपा की ओर से अपने उम्मीदवार घनश्याम तिवाड़ी को 41 वोट को पहली प्रायोरिटी देने के बाद शेष बचे 30 वोट की दूसरी प्रायोरिटी को निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा को देने की रहेगी।


Share