2 साल बाद राजस्थान पूरी तरह अनलॉक: नई गाइडलाइन जारी

Rajasthan completely unlocked after 2 years: new guideline released
Share

प्रदेश में पहली से 5वीं तक खुलेंगे स्कूल, शादियों में 250 लोगों की सीमा भी खत्म, बाहर से आने वालों के लिए दोनों डोज का सर्टिफिकेट या 72 घंटे की आरटी-पीसीआर जरूरी

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान 2 साल बाद पूरी तरह अनलॉक होने जा रहा है। तीसरी लहर कम होने के बाद राज्य सरकार ने कोरोना को लेकर लगाई सभी पाबंदियों को हटा लिया है। पहली से पांचवीं तक के बच्चों के स्कूल खोलने की मंजूरी दे दी है। बुधवार से बच्चों की ऑफलाइन कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। ऑफलाइन क्लास के लिए अभिभावकों की सहमति जरूरी होगी। उनकी मर्जी के बिना बच्चों को स्कूल नहीं बुलाया जा सकेगा। जो बच्चें ऑफलाइन नहीं आना चाहेंगे उनके लिए ऑनलाइन क्लास का ऑप्शन भी रखना होगा। नई गाइडलाइन 16 फरवरी से लागू होगी।

कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए पहले से जारी गाइडलाइन की सभी पाबंदियों को हटा लिया है। अब नई गाइडलाइन के हिसाब से वैक्सीनेशन पर जोर दिया गया है। बाहर से आने वालों के लिए वैक्सीनेशन की दोनों डोज का सर्टिफिकेट या 72 घंटे की आरटी-पीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य है। घरेलू हवाई यात्रा या ट्रेन से यात्रा कर राजस्थान आने वाले सभी यात्रियों के लिए ये अनिवार्य होगा। यदि कोई यात्री डबल डोज वैक्सीनेशन सर्टीफिकेट या आरटी-पीसीआर नेगेटिव जांच रिपोर्ट नहीं दिखा पाता है, तो जांच करवाना अनिवार्य होगा। आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने तक संबंधित यात्री को 7 दिन क्वारैंटाइन किया जाएगा।

प्रदेश में अब कोई पाबंदी नहीं

शादियों व समारोह में अब असीमित लोग शामिल हो सकेंगे। 250 लोगों की पाबंदी हटा दी गई है। क्लब, रेस्टोरेंट, होटल, जिम, सिनेमा, मल्टीप्लेक्स अब 100 फीसदी क्षमता से चल सकेंगे।

विदेश से आने वालों को नेगेटिव रिपोर्ट आने तक क्वारैंटाइन किया जाएगा

विदेशों से राजस्थान में आने वाले सभी यात्रियों का एयरपोर्ट कोविड टीम को आवश्यक रूप से आरटी-पीसीआर जांच करना अनिवार्य होगा। आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने तक विदेश से आने वालों को 7 दिन तक के लिए संस्थागत या होम क्वारैंटाइन किया जाएगा।


Share