वायुसेना में शामिल हुआ दुश्मनो का काल राफेल

चीन से तनाव के बीच कल वायुसेना में होंगे शामिल राफेल
Share

अंबाला (एजेंसी)। पूर्वी लद्दाख में सीमा पर भारत और चीन के बीच जारी तनातनी के बीच गुरूवार को भारतीय वायुसेना को उसका ‘बाहुबली’ मिल गया और इस तरह से भारत की ताकत में और इजाफा हो गया। फ्रांस से खरीदे गए पांच राफेल लड़ाकू विमान औपचारिक रूप से गुरूवार को भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल हुए। अंबाला एयरबेस पर राफेल के इंडक्शन समारोह में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली भी मौजूद रहीं। सर्वधर्म पूजा के साथ ही आसमान में दुश्मनों को अपनी ताकत दिखाकर बाहुबली राफेल भारतीय वायुसेना के बेड़े में शामिल हो गया।

राजनाथ सिंह और फ्रांस की रक्षा मंत्री की मौजूदगी में सुबह दस बजे राफेल का भारतीय वायुसेना में शामिल होने की प्रक्रिया शुरू हुई। सबसे पहले सर्वधर्म पूजा की गई, जिसके बाद फ्लाईपास्ट किया गया | फ्लाईपास्ट के दौरान राफेल ने हर तरह से दुश्मनो को अपनी दिक्कत का अहसास करवाया | राफेल ने दिखाया की न सिर्फ वह काफी स्पीड में उड़ान भर कर दुश्मनो पर टूट सकता है, बल्कि कम स्पीड में भी वह उड़ान भर सकता है | फ्लाईपास्ट के दौरान राफेल के साथ आसमान में तेजस सुखोई भी उड़ान भरते दिखे |

हरयाणा के  अबाला स्थित वायुसेना स्टेशन एक शानदार समोरोह में यह विमान वायु सेना गोल्डन एरो स्क्वैड्रोन का हिस्सा बन गया| अत्याधुनिक लड़ाकू विमानों की कमी का सामना कर रही भारत्या वायु सेना क लिए ें दिनों को काफी महत्पूर्ण मन जा रहा है, क्युकी क्षेत्र में सकती संतुलन को बदलने की ताकत रखने वाला राफेल ऐसी दिन उसके लड़ाकू विमानों के बेड़े की शान बन गया |

फ्रांस की रक्षा मंत्री ने क्या कहा

फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली ने राफेल इंडक्शन सेरेमनी को संबोधित किया और कहा कि आज हम दोनों देशो के लिए  एक उपलब्धि है | हम एक साथ मिल क्र भारत – फ्रैंच के रक्षा संबंधो एक न्य आधाये लिख रहे है | हम ‘मेक – इन – इंडिया ‘ पहल के साथ साथ अपनी वैश्वक आपूर्ति श्रंखला में भारतीय निर्माताओं के एकीकरण के लिए पूरी तरह से प्रतिबंद्ध है |


Share