राजस्थान सत्ता व संगठन में फेरदबल की तैयारी

राजस्थान सत्ता व संगठन में फेरदबल की तैयारी
Share

पायलट ने आलाकमान से कहा- मेरे कोटे के मंत्रियों में हो बदलाव
जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान कांग्रेस सत्ता और संगठन में बड़ा फेरबदल करने की तैयारी है। जनवरी माह में दो साल पुरानी अशोक गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल में फेरबदल और राजनीतिक नियुक्तियों के साथ ही प्रदेश कांग्रेस कमेटी से लेकर जिला कांग्रेस कमेटियों की कार्यकारिणी का गठन होगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खराब परफोर्मेंस वाले मंत्रियों को हटाकर नये लोगों को शामिल करने की तैयारी में जुटे हैं। वहीं पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने अपने कोटे से गहलोत मंत्रिमंडल में शामिल किए गए मंत्रियों के स्थान पर नये लोगों को मौका देने की बात कांग्रेस आलाकमान को कही है।
पायलट ने तीन दिन दिल्ली में रहकर कांग्रेस के संगठन महासचिव के.सी.वेणुगोपाल व प्रदेश प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव अजय माकन से मुलाकात की है। इस मुलाकात में पायलट ने गहलोत मंत्रिमंडल में फेरबदल व राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर अपना पक्ष रखा । पायलट की कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से भी बात होने की जानकारी है। इस दौरान पायलट ने दो साल पहले गहलोत सरकार के गठन के समय जिन नेताओं को अपने कोटे से मंत्रिमंडल में शामिल कराया था,उन्हें हटाकर अपनी तरफ से नये नाम देने की बात कही है। दो साल पहले पायलट के कोटे से 6 मंत्री बनाए गए थे। इनमें से एक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री भंवरलाल मेघवाल का बीमारी के कारण निधन हो गया। पायलट के साथ बगावत करने पर विश्वेंद्र सिंह व रमेश मीणा को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया गया था। अब पायलट की सिफारिश से बनने वालों में खानमंत्री प्रमोद जैन,परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास व सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना शामिल है। इन तीनों की ही पिछले 6 माह से पायलट के साथ दूरी है ।
पायलट के निकटस्थ सूत्रों के अनुसार उन्होंने पार्टी नेतृत्व से अपने कोटे से विश्वेंद्र सिंह व रमेश मीणा के अलावा चार अन्य मंत्री बनाने की सिफारिश की है। इनमें मुरारी लाल मीणा, वेद प्रकाश सोलंकी, रामनिवास गावडिया और मुकेश भाकर शामिल है। सूत्रों के अनुसार पायलट ने पार्टी नेतृत्व से कहा कि सीएम यदि खाचरियावास, आंजना व प्रमोद जैन को मंत्रिमंडल में रखना चाहें तो अपने कोटे से रखें। माकन से हुई मुलाकात की पुष्टि करते हुए पायलट ने कहा कि सत्ता व संगठन को लेकर चर्चा हुई है। कैसे पार्टी को मजबूत किया जाए इस पर चर्चा हुई है। पायलट के दिल्ली में सक्रिय रहने के दौरान गहलोत के विश्वस्त राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने भी कई केंद्रीय नेताओं से मुलाकात की।
प्रदेश के दौरे पर आएंगे माकन
पायलट के दिल्ली पहुंचने से पहले प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने अजय माकन से मुलाकात कर प्रदेश कार्यकारिणी के गठन को लेकर चर्चा की। डोटासरा ने बताया कि उपाध्यक्ष और महासचिव पद पर अधिकांश वरिष्ठ नेताओं को मौका मिलेगा। सचिव पद पर युवाओं को काम करने का अवसर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि 5 सदस्यीय अनुशासन कमेटी भी गठित की जाएगी। प्रदेश सत्ता व संगठन को सक्रिय करने के लिहाज से अजय माकन 25 दिसंबर को जयपुर पहुंचेंगे। वे 26 दिसंबर को कोटा में कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं से फीडबैक लेंगे।


Share