वैभव गहलोत पर एफआईआर से गरमाई सियासत, कटारिया बोले- राजस्थान का गांधी दे सवाल का जवाब, शेखावत ने कहा-पुत्रमोह बना देता है धृतराष्ट्र

Politics heats up due to FIR on Vaibhav Gehlot, Kataria said - Gandhi of Rajasthan should answer the question, Shekhawat said - Putramoha makes Dhritarashtra
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)।  मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे और आरसीए अध्यक्ष वैभव गहलोत के खिलाफ महाराष्ट्र के नासिक में धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज होने पर सियासत गरमा गई है। राजस्थान भाजपा के सीनियर लीडर और नेता प्रतिपक्ष गुलाबचन्द कटारिया ने कहा है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अपने आप को महात्मा गांधी को मानने वाला और उनकी जैसे जिन्दगी जीने वाले बताते हैं। राजस्थान के गांधी के बच्चे वैभव गहलोत के खिलाफ धारा 156-3 में कोर्ट ने एफआईआर दर्ज करने के लिए नासिक के गंगापुर थाने के लिए आदेश जारी किए हैं।

आरोप है कि वैभव ने एक ठेका दिलाने में 6 करोड़ से ज्यादा रूपए की लोगों से ठगी की है। कटारिया ने कहा आज कांग्रेस की जो दुर्गति हुई है, राजनीति में उसमें सबसे बड़ा कारण मुझे यह समझ आता है कि कांग्रेस पार्टी, इसके नेता और उनके परिवार वाले इस देश को लूटने में जिस तरह से जुटे रहे हैं। उसके कारण एक के बाद एक मामले उजागर होते गए। एक अच्छी-भली पार्टी की आज दुर्गति हुई है। उत्तरप्रदेश जैसे राज्य में कांग्रेस के केवल 2 नमूने रह गए। राजस्थान के गांधी को मेरे सवाल का जवाब देना चाहिए। घर में ही उनका बेटा इस तरह के कर्मों में लगा हुआ है तो वह गांधीजी के नाम को सम्मान दे रहे हैं या अपमानित कर रहे हैं।

कटारिया ने कहा मेरी इतनी प्रार्थना है कि कम से कम मुंह खोलकर एक शब्द इस पर जरूर कहें कि वैभव गहलोत के खिलाफ कोर्ट से इस्तगासा एफआईआर दर्ज करने का आया है। उसके बारे में राजस्थान और हिन्दुस्तान की जनता को वह बताएं कि वास्तव में गांधी परिवार में यह क्या हो रहा है।

पुत्रमोह बना देता है धृतराष्ट्र

केन्द्रीय मंत्री और जोधपुर से सांसद गजेन्द्र सिंह शेखावत ने भी वैभव गहलोत का नाम ई-टॉयलेट टेंडर घोटाले में शामिल होने पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा है। गजेन्द्र सिंह ने तंज कसा है कि पुत्रमोह धृतराष्ट्र बना देता है। ट्वीट कर शेखावत ने कहा कि मुख्यमंत्री के बेटे वैभव गहलोत पर राजस्थान में ई- टायलेट टेंडर घोटाले में शामिल होने का आरोप गंभीर है। गहलोत साहब को सफाई में ध्यान रखना होगा कि मामला कोर्ट के कहने पर दर्ज हुआ है। देखना होगा सीएम साहब बेटे को बचाने के लिए हमेशा की तरह पूरी सरकार लगा देंगे या सच कहेंगे। शेखावत ने कहा कि वैसे मुझे नहीं लगता वे सच कहेंगे।

वैभव गहलोत के खिलाफ महाराष्ट्र के नासिक में कोर्ट के आदेश के बाद धोखाधड़ी के आरोप में एफआईआर दर्ज हुई है। नासिक के कारोबारी सुशील भालचंद्र पाटिल ने वैभव पर महाराष्ट्र के पर्यटन विभाग में ई-टॉयलेट सहित सरकारी विभागों में टेंडर दिलाने के नाम पर 6.80 करोड़ रूपए की धोखाधड़ी का आरोप लगाया है।सुशील ने नासिक के गंगापुर थाने में 17 मार्च को वैभव गहलोत सहित 14 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। मुख्य आरोपी गुजरात कांग्रेस के सचिव सचिन पुरूषोत्तम वालेरा हैं। वालेरा के पिता पुरूषोत्तम भाई वालेरा भी वरिष्ठ कांग्रेस नेता रहे हैं।


Share