Thursday , 16 August 2018
Top Headlines:
Home » Political » हरिवंश बने रास उपसभापति

हरिवंश बने रास उपसभापति

विपक्षी एकता में लगी सेंध

नई दिल्ली। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के उम्मीदवार हरिवंश को गुरूवार को राज्यसभा का उपसभापति चुन लिया गया। उनके पक्ष में 125 सदस्यों ने मतदान किया जबकि विरोध में 105 मत पड़े।
जनता दल यू के बिहार से सदस्य हरिवंश के खिलाफ विपक्ष ने कांग्रेस के बी के हरिप्रसाद को अपना उम्मीदवार बनाया था। समाजवादी पार्टी की जया बच्चन, कांग्रेस की विप्लव ठाकुर और द्रमुक की कनिमोझी सहित कुछ अन्य सदस्य मतदान के दौरान सदन में मौजूद नहीं थे। इसके अलावा आम आदमी पार्टी, पीपुल्स डेमोक्रेटिक फ्रंट तथा वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने मतदान में हिस्सा नहीं लिया। दूसरी ओर बीजू जनता दल, तेलंगाना राष्ट्र समिति और शिव सेना तथा असंबद्ध सदस्य अमरङ्क्षसह ने हरिवंश के पक्ष में मतदान किया। पी जे कुरियन का जुलाई में कार्यकाल समाप्त होने के बाद से राज्यसभा के उपसभापति का पद रिक्त था।
सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सभापति एम. वेंकैया नायडु के जरूरी कागजात पटल पर रखवाने के तुरंत बाद उपसभापति के चुनाव की प्रक्रिया शुरू की। उन्होंने बताया कि उपसभापति के चुनाव के लिए 9 नोटिस मिले हैं । उन्होंने संबंधित सदस्यों से अपने उम्मीदवारों के पक्ष में प्रस्ताव पेश करने को कहा। हरिवंश के पक्ष में 4 तथा हरिप्रसाद के पक्ष में 5 प्रस्ताव पेश किये गये।
सभापति ने हरिवंश के पक्ष में रामचंद्र प्रसाद ङ्क्षसह द्वारा पेश प्रस्ताव पर मतदान कराया। उन्होंने घोषणा की कि मतदान में प्रस्ताव के पक्ष में 125 मत पड़े हैं जबकि विरोध में 105 सदस्यों ने मत दिया है। उन्होंने हरिवंश को निर्वाचित घोषित किया जिसका दोनों ओर के सदस्यों ने मेजें थपथपाकर स्वागत किया।
इसके बाद हरिवंश को सदन के नेता अरूण जेटली, संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार एवं राज्य मंत्री विजय गोयल तथा सदन में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद उपसभापति की सीट तक ले गये। इसके तुरंत बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उपसभापति की सीट पर जाकर हरिवंश से हाथ मिलाया और उन्हें निर्वाचित होने की बधाई दी।
प्रधानमंत्री ने दी बधाई
राज्यसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए उपसभापति चुनाव के नतीजों के बाद कहा कि अगस्त क्रांति में बलिया की बड़ी भूमिका थी। हरिवंश भी उसी बलिया से आते हैं। प्र.म. मोदी ने अरूण जेटली के राज्यसभा में वापस आने पर भी बधाई दी। प्र.म. ने कहा कि हरिवंश सिंह कलम के धनी हैं, उन्होंने पत्रकारिता के क्षेत्र में भी काफी बढिय़ा काम किया। वह हमेेशा से गांव से जुड़े रहे, उन्हें कभी शहर की चकाचौंध नहीं अच्छी लगी।
जेटली ने दी बधाई
राज्यसभा में सदन के नेता अरूण जेटली ने भी नए उपसभापति हरिवंश सिंह को बधाई दी। उन्होंने कहा कि हरिवंश जी का बतौर सांसद कार्यकाल काफी अच्छा रहा है। हमें उम्मीद है कि उनके अनुभव का फायदा सदन को मिलेगा। जेटली बोले कि उपसभापति को समर्थन भले ही सत्ता पक्ष का मिलता हो लेकिन वह बैठता विपक्ष के नेता के साथ ही है।
दो बार हुई वोटिंग
राज्यसभा में उपसभापति चुनाव के लिए दो बार वोटिंग हुई। पहली बार में हरिवंश को 115 तो दूसरी बार में 125 वोट मिले। पहली बार कुछ वोट ठीक तरीके से ना हो पाने के कारण दोबारा वोटिंग हुई।आसन पर हरिवंश की पहली लाइन, लगे ठहाके
नई दिल्ली। राज्यसभा का उपसभापति चुने जाने के बाद हरिवंश नारायण सिंह गुरूवार को जब पहली बार आसन संभालने पहुंचे तो उनके द्वारा बोली गई पहली लाइन से सदन हंसी के ठहाकों से गूंज उठा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मुस्कुराते दिखे। दरअसल, दोपहर करीब 1 बजे वेंकैया नायडू अपनी सीट छोड़कर उठ रहे थे तभी उन्होंने हरिवंश को आमंत्रित किया। हरिवंश ने आसन पर पहुंचकर हाथ जोड़कर सभी का अभिवादन किया और फिर पढ़ा, सदन की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित की जाती है।
इस पर प्रधानमंत्री ने भी मेज थपथपाई और हंसते हुए उठे। सदन भी हंसी के ठहाकों से गूंज उठा। इससे पहले अपने संबोधन के दौरान सदस्यों को आश्वस्त करते हुए नए उपसभापति हरिवंश ने कहा कि वह उनकी उम्मीदों पर खरा उतरने की पूरी कोशिश करेंगे।
उन्होंने कहा, मैं सभापति, प्रधानमंत्री, नेता पक्ष, नेता विपक्ष, सभी पार्टियों के नेता और सदन के प्रत्येक सदस्य का धन्यवाद करता हूं। सबने मुझ पर भरोसा किया इसके लिए आभार। हरिवंश ने कहा कि डिबेट का इतिहास काफी पुराना है। ऐसे में हमें गांधी द्वारा राजनीतिक कार्यकर्ताओं को दिए गए संदेश को याद रखना होगा। उन्होंने कहा, मैंने गरीबी देखी है, गंगा और घाघरा की बाढ़ देखी है। पेड़ के नीचे पढ़कर बड़ा हुआ हूं।
आखिर में उन्होंने कहा, मैं यकीन दिलाता हूं कि हम मिलकर सदन को निष्पक्ष और मर्यादित तरीके से चलाएंगे। इससे पहले प्रधानमंत्री ने हरिवंश के कार्यों का जिक्र करते हुए उनकी जमकर तारीफ की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.