राजस्थान भाजपा में सियासी घमासान मंच पर ही भिड़े पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक

अब भाजपा ने लगाई सेंध- सपा और कांग्रेस विधायक को तोड़ा
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 से पहले प्रदेश भाजपा नेताओं में सियासी घमासान जारी है। पूर्व मंत्री हेमसिंह भड़ाना और अलवर शहर विधायक संजय शर्मा के बीच खटपट का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। दोनों नेताओं के बीच तीखी नोकझोंक वाला यह वीडियो पिछले दिनों अलवर में आयोजित भाजपा के जन हुंकार रैली का बताया जा रहा है। दोनों नेताओं के बीच मंच पर बोलने को लेकर विवाद हो गया।

वसुंधरा सरकार में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री रहे हेमसिंह भड़ाना टोकाटाकी से भाजपा विधायक संजय शर्मा से नाराज हो गए। वीडियो में हेमसिंह भड़ाना विधायक संजय शर्मा से यह कहते हुए सुनाई दे रहे है कि आप अपने अधिकार क्षेत्र में रहे। आप मेरे बॉस नहीं है। आप रैली में आए। यह आपका अधिकार है। आप बोलिए। जवाब में संजय शर्मा कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि मैं नहीं बोल रहा।

प्रदेश नेतृत्व पर उठ रहे हैं सवाल

राजस्थान में विधानसभा चुनाव 2023 के अंत तक होने है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा राजस्थान के दौरे पर है। जेपी नड्डा का पूरा फोकस पार्टी को एकजुट करने पर है, लेकिन जिस तरह से भाजपा नेताओं के बीच गुटबाजी की खाई बढ़ती जा रही है। उससे प्रदेश नेतृत्व पर सवाल उठ रहे हैं। दरअसल, 5 मई को गहलोत सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ भाजपा ने जन हुंकार रैली का आयोजन किया था। रैली को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया समेत बड़े नेताओं ने संबोधित किया।  रैली के मंच पर बोलने को लेकर लेकर पूर्व मंत्री और थानागाजी से विधायक रहे हेमसिंह भड़ाना और अलवर शह विधायक संजय शर्मा के बीच तकरार हो गई। भड़ाना मंच पर जैसे ही बोलने के लिए आए तो टोकाटाकी शुरू हो गई। इससे वह नाराज हो गए। भड़ाना ने भड़कते हुए संजय शर्मा को अपने अधिकार क्षेत्र में रहने की नसीहत दे डाली।

मुख्यमंत्री पद को लेकर  सियासी घमासान

पार्टी आलाकमान के सख्त निर्देशों के बावजूद राजस्थान भाजपा में सियासी घमासाना जारी है। मुख्यमंत्री पद के चेहरे को लेकर गुटबाजी चरम पर पहुंच गई हे। वसुंधरा विरोधी धड़ा एकजुट होकर पूर्व सीएम वसुंधरा राजे को सीएम फेस का चेहरा घोषित करने की मांग का विरोध कर रहा है। जबकि वसुंधरा समर्थक पार्टी आलाकमान से राजे को मुख्यमंत्री पद का चेहरा घोषित करने की मांग कर रहे हैं। राजस्थान भाजपा प्रभारी अरूण सिंह कह चुके हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे पर ही विधानसभा चुनाव लड़ा जाएगा। इसके लिए वसुंधरा समर्थक तैयार नहीं है। राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पिछले दिनों भाजपा नेताओं को दिल्ली में बुलाकर बयानबाजी नहीं करने और एकजुट रहने की नसीहत दी थी।


Share