पुलिस ने पूनिया-सूर्या को करौली जाने से रोका

Police stopped Poonia-Surya from going to Karauli
Share

जयपुर (कार्यालय संवाददाता)। करौली हिंसा पीडि़तों से मिलने जा रहे भारतीय जनता पार्टी  प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां और भारतीय जनता युवा मोर्चा  के राष्ट्रीय अध्यक्ष तेजस्वी सूर्या एवं भाजयुमों कार्यकर्ताओं को बुधवार को पुलिस ने हिण्डोन रोड पर रोक दिया और करौली जिले की सीमा में प्रवेश करने से पहले ही उन्हें हिरासत में ले लिया। पुलिस के इन लोगों को करौली के लिए आगे नहीं जाने देने पर मौके पर प्रदर्शन शुरू हो गया और डा पूनियां एवं श्री सूर्या के नेतृत्व में भाजयुमों कार्यकर्ता नारे लगाने लगे और आगे बढऩे की कोशिश की लेकिन मौके पर तैनात भारी पुलिस बल ने उन्हें आगे नहीं बढऩे दिया। बाद में पूनियां एवं  सूर्या मौके पर ही कार्यकर्ताओं के साथ धरने पर बैठ गये।

मौके पर डा पूनियां ने कार्यकर्ताओं के साथ राज्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। बाद में कुछ कार्यकर्ताओं के अवरोधक तोड़कर आगे बढऩे की कोशिश करने पर पुलिस ने उन्हें खदेड़ा। पुलिस ने धरने पर बैठे पूनियां एवं सूर्या सहित अन्य नेताओं को समझाने का प्रयास किया। इस दौरान  सूर्या ने कहा कि करौली में हिन्दू समाज के साथ अन्याय हुआ है वे उन्हें विश्वास दिलाने के लिए करौली जा रहे है और हमने प्रण लिया है या तो करौली जाएंगे या जेल जाएंगे। उन्होंने इस मामले में निर्दोष लोगों को नहीं फंसाने, आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी एवं पीड़तिों को मुआवजे देने की मांग की।  धरने पर बैठे इन नेताओं को पुलिस ने समझाने का प्रयास किया, उनके नहीं मानने पर पुलिस ने डा पूनियां, सूर्या,  सांसद श्रीमती कोली  आदि तथा कई भाजयुमों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। इससे पहले पूनियां एवं  सूर्या करौली ङ्क्षहसा के पीड़तिों से मिलने के लिए जयपुर से न्याय रैली के रूप में रवाना हुए और वे करौली जिला सीमा पर पहुंचने पर पुलिस ने उन्हें हिण्डोन रोड़ पर आगे जाने से रोक दिया। मौके पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। काफी संख्या में मौजूद भाजयुमों कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के खिलाफ नारे लगाये। पूनियां एवं  सूर्या ने जयपुर में सवाई मानसिंह   अस्पताल में भर्ती करौली हिंसा के घायलों से मुलाकात करने के बाद रैली के रूप में करौली के लिए प्रस्थान किया था। इससे पूर्व  सूर्या ने जयपुर पहुंचने पर मीडिया से कहा कि राजस्थान में कानून व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ चुकी है।


Share