प्र.म. मोदी ने जनरल बिपिन रावत को श्रद्धांजलि दी, शहीद सैनिकों के परिवार वालों से एक-एक कर मिले

PM Modi pays tribute to General Bipin Rawat
Share

तुम्हें भूलेगा हिंदुस्तान

नई दिल्ली (एजेंसी)। सीडीएस बिपिन रावत और सशस्त्र बलों के अन्य जवानों के पार्थिव शरीर गुरूवार रात करीब आठ बजे दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पर लाए गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद भी हवाई अड्डे पहुंचे। उन्होंने सभी वीर सपूतों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। तमिलनाडु के कुन्नूर में हेलीकॉप्टर हादसे में बुधवार को देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत का निधन हो गया था।

रात करीब 9 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एयरपोर्ट पहुंचे और जनरल रावत समेत सभी शहीदों को श्रद्धांजलि दी। उसके बाद पीएम ने शहीदों के परिजनों से एक-एक कर मुलाकात भी की और उन्हें ढांढस बंधाया।

राजनाथ और डोभाल ने भी दी श्रद्धांजलि : इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल करीब साढ़े 8 बजे एयरपोर्ट पहुंचे और सभी शहीदों के परिजनों से मिलकर बातचीत की। पीएम के बाद राजनाथ सिंह और अजित डोभाल ने शहीदों को श्रद्धासुमन अर्पित किया।

तीनों सेना प्रमुखों ने भी किए अंतिम दर्शन : ष्टष्ठस् बिपिन रावत समेत 13 शहीदों के अंतिम दर्शन के लिए तीनों सेना के प्रमुख भी पालम एयरपोर्ट पहुंचे। थल सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे, नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार और वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी ने भी शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

इससे पहले हेलिकॉप्टर क्रैश में जान गंवाने वाले सभी लोगों के पार्थिव शरीर को गुरूवार सुबह करीब 10.30 बजे मिलिट्री ट्रक में तमिलनाडु के वेलिंगटन अस्पताल से सेना के मद्रास रेजिमेंटल सेंटर लाया गया, जहां उन्हें श्रद्धांजलि दी। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, तेलंगाना की गवर्नर और पुडुचेरी की लेफ्टिनेंट गवर्नर डॉ. तमिलिसई सौंदराराजन ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

तमिलनाडु में स्थानीय लोगों ने हादसे में मारे गए लोगों के पार्थिव शरीरों को मद्रास रेजिमेंटल सेंटर से सुलूर एयरबेस लेकर जा रही एंबुलेंस पर फूलों की बारिश की।

रावत की दोनों बेटियों ने ताबूत पर मत्था टेका

सीडीएस रावत की बेटियां बिलख रही थीं। दोनों ने माता-पिता के पार्थिव शरीर को प्रणाम कर ताबूत पर मत्था टेका। उनका रो-रो कर बुरा हाल हो रहा था। जनरल रावत की बड़ी बेटी का नाम कीर्तिका है। कीर्तिका की शादी हो चुकी है और फिलहाल वह मुंबई में रहती हैं। छोटी बेटी का नाम तारिणी है, जो दिल्ली हाईकोर्ट में वकील के तौर पर प्रैक्टिस कर रही हैं।

आज दिल्ली में निकाली जाएगी अंतिम यात्रा

जनरल बिपिन रावत की पार्थिव देह के शुक्रवार सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे के बीच दिल्ली स्थित घर पर अंतिम दर्शन कर सकेंगे। इसके बाद कामराज मार्ग से बरार चौराहे तक शवयात्रा निकाली जाएगी। दिल्ली कैंटोनमेंट में अंतिम संस्कार होगा।

रक्षा मंत्रालय ने कहा- शवों की पहचान बेहद मुश्किल

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि हादसा इतना भीषण था कि शवों की पहचान मुश्किल हो गई है। हम सही पहचान के लिए हर संभव कदम उठा रहे हैं, ताकि किसी करीबी की भावना को चोट न पहुंचे। मृतकों के परिजनों को दिल्ली बुला लिया गया है। इसके अलावा डीएनए व वैज्ञानिक तरीके से भी जांच की जाएगी।

हादसे में बचे वरूण सिंह को बेंगलुरू शिफ्ट किया

हेलिकॉप्टर क्रैश में सिर्फ ग्रुप कैप्टन वरूण सिंह बचे हैं। उनका शरीर इस हादसे में बुरी तरह झुलस गया है। उन्हें पहले वेलिंगटन के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में उनको एयर एंबुलेंस से बेंगलुरू शिफ्ट कर दिया गया।


Share