वाराणसी में प्र.म. मोदी बोले ,’शॉर्टकट से देश का भला नहीं होता, हां कुछ नेताओं का हो सकता

PM in Varanasi Modi said, 'Shortcut does not benefit the country
Share

वाराणसी (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरूवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को 1700 करोड़ से ज्यादा की सौगात दी। सिगरा स्टेडियम से उन्होंने 43 योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इससे पहले अक्षय पात्र रसोई का उद्घाटन और नई शिक्षा नीति पर आयोजित अखिल भारतीय शिक्षा समागम का शुभारंभ किया। सिगरा स्पोर्टस स्टेडियम में जनसभा की शुरूआत प्र.म. मोदी ने हर-हर महादेव के उद्घोष के बाद भोजपुरी में की। सात वार और नौ त्योहार का जिक्र कर काशी की जनता का अभिवादन किया। उन्होंने कहा कि काशी की आत्मा अविनाशी है, लेकिन काया में निरंतर नवीनता लाने के लिए हम जी-जान से प्रयास कर रहे हैं। हमारा प्रयास काशी को और ज्यादा गतिशील, प्रगतिशील और संवेदनशील बनाने का है। प्र.म. मोदी ने कहा कि काशी के जागरूक नागरिकों ने जिस तरह देश को दिशा देने वाला काम किया है, उसे देखकर मैं आनंदित हूं। काशी के नागरिकों ने पूरे देश को संदेश दे दिया है कि शॉर्टकट से देश का भला नहीं हो सकता। हां कुछ नेताओं का हो सकता है। लेकिन न जनता का भला होता है और न ही देश का भला होता है।  आज हम देख रहे हैं कि जब दूरगामी प्लानिंग होती है तो किस तरह नतीजे भी निकलते हैं। पिछले 8 वर्षों में काशी का इंफ्रास्ट्रक्चर कहां से कहां पहुंच गया है। इससे किसान, मजदूर, व्यापारी सभी को लाभ हो रहा है। व्यापार बढ़ रहा है, कारोबार बढ़ रहा है, पर्यटन में विस्तार हो रहा है।

काशी ने पूरे देश को दिखाई विरासत और विकास की तस्वीर

इससे पहले संबोधन की शुरूआत में प्र.म. मोदी ने कहा कि विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश के लोगों ने और मेरी काशी के लोगों ने जो समर्थन दिया, उमंग और उत्साह के साथ मेरा जो साथ दिया। इसलिए मैं आज जब चुनाव के बाद पहली बार आपके बीच आया हूं तो आदरपूर्वक काशीवासियों का, उत्तर प्रदेश के वासियों के धन्यवाद करता हूं। दिव्य, भव्य, नव्य काशी में पिछले 8 वर्षों से विकास का जो उत्सव चल रहा है आज उसको हम एक बार फिर गति दे रहे हैं। काशी हमेशा से जीवंत निरंतर प्रवाहमान रही है। अब काशी ने एक तस्वीर पूरे देश को दिखाई है जिसमें विरासत भी है और विकास भी है। काशी में एक प्रोजेक्ट खत्म होता है, तो चार नए प्रोजेक्ट शुरू हो जाते हैं। आज भी काशी में 1700 करोड़ रूपये के दर्जनों प्रोजेक्ट का लोकार्पण और शिलान्यास हुआ है।

2014 से पहले लोग कहते थे, कैसे होगा

काशी में सड़क, पानी, बिजली, स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छता और सुंदरीकरण से जुड़ी परियोजनाएं पूरी हो चुकी है। प्र.म. मोदी ने कहा कि मुझे याद है 2014 में आने के बाद काशी में बाहर से आने वाले लोग सवाल करते थे कि यहां इतना ज्यादा अव्यवस्थित है ठीक कैसे होगा। बनारस में जहां नजर डालों, बदलाव की जरूरत नजर आती थी। साफ लगता था कि बनारस के विकास में दशकों से कोई काम हुआ ही नहीं। लोगों को यह दे दो, वह दे दो… इससे ज्यादा उसकी सोच आगे जाती ही नहीं थी। लोग यही सोचते थे कि कौन इतनी मेहनत करे। लेकिन आज यहां के विकास को दुनिया देख रही है।

काशी विश्वनाथ धाम में पहला सावन

अपनी काशी को संबोधित करते हुए प्र.म. मोदी ने कहा कि देश और दुनिया से बाबा भक्त भारी संख्या में काशी आने वाले हैं। विश्वनाथ धाम परियोजना पूरी होने के बाद ये पहला सावन उत्सव होगा। विश्वनाथ धाम को लेकर पूरी दुनिया में कितना उत्साह है ये आपने बीते महीनों में खुद अनुभव किया है। सावन के दौरान यहां बाबा के भक्तों को दिव्य, भव्य और नव्य काशी का भी अनुभव मिलेगा। दुनिया भर के श्रद्धालुओं और पर्यटकों को काशी में आस्था और आध्यात्म का निर्बाध अनुभव मिले ये हम सभी का कमिटमेंट है।


Share