पठानकोट में प्र.म. के ताबड़तोड़ हमले, ‘गुरू नानक की तपोभूमि पर कब्जे के 3 मौके कांग्रेस ने गंवाए’

PM in Pathankot 'Congress lost 3 chances of capturing Guru Nanak's Tapobhoomi'
Share

पठानकोट (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाब चुनाव के सिलसिले में पठानकोट में जनसभा कर सत्तारूढ़ कांग्रेस पर ताबड़तोड़ हमले किए। इस दौरान प्र.म. मोदी ने आम आदमी पार्टी को भी लपेटे में किया। प्र.म. मोदी ने 1947 विभाजन, 1965 युद्ध और बांग्लादेश युद्ध का जिक्र कर कांग्रेस पर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि गुरू नानक की तपोभूमि पर कब्जे के 3-3 मौके कांग्रेस ने गंवाए।

पठानकोट की जनसभा में प्र.म. मोदी ने कहा, जब देश का विभाजन हुआ तब कांग्रेस के लोग थे, क्या इन्हें इतनी समझ नहीं आई कि सीमा से 6 किमी दूरी पर स्थिति गुरूनानक देव जी की तपोभूमि को भारत में रखा जाए। कांग्रेस के लोगों ने पाप किया है, हमारी भावनाओं को कुचला है। 1965 की लड़ाई में भारत की सेना लाहौर में झंडा फहराने की ताकत के साथ आगे बढ़ रही थी। अगर तब थोड़ा दो कदम आगे जाते तो गुरूनानक देव जी की तपोभूमि हमारे पास होती।

प्र.म. मोदी ने आगे कहा, दूसरा मौका भी वो चूक गए। हम तो एक समर्पित लोग हैं, हमें विरासत पर भी गर्व है, विकास की जिम्मेदारी भी हमारे सामने है। हम गुरूओं के प्रकाश पर्व को पूरी आस्था से सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में मनाते हैं। भारत की इस विरासत को पूरी दुनिया में पहचान कराते हैं।

1971 युद्ध का जिक्र करते हुए प्र.म. मोदी ने कहा, बांग्लादेश की लड़ाई में 90,000 पाकिस्तान के सैनिकों ने हिंदुस्तान की सेना के सामने घुटने टेक दिए। तब दिल्ली में बैठी सरकार में दम होता तो कह देते कि ये सैनिक तुम्हें तब मिलेंगे, जब हमें गुरूनानक देव जी की तपोभूमि वापस मिलेगी। तीन-तीन मौके उन्होंने गंवाए।

पठानकोट हमले को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधते हुए प्र.म. मोदी बोले, कांग्रेस ने पंजाब और देश की शान के खिलाफ क्या-क्या कु-कृत्य नहीं किए। इसी पठानकोट पर जब पाकिस्तानी आतंकियों ने हमला किया था तब देश उस संवेदनशील मौके पर एकजुट था। लेकिन कांग्रेस पार्टी के नेता क्या कर रहे थे? इन्होंने सेना के शौर्य पर सवाल उठाए या नहीं उठाए? इन्होंने शहीदों की शहादत पर कीचड़ उछाला या नहीं उछाला?

कांग्रेस पर बरसते हुए मोदी बोले, और पुलवामा हमले की बरसी पर भी कांग्रेस के लोग बाज नहीं आ रहे हैं। वो हमारी सेना की बहादुरी का फिर से सबूत मांग रहे हैं। पुलवामा हमले की बरसी पर भी कांग्रेस के लोग अपनी पाप-लीला को बंद नहीं कर पाए। वो हमारी सेना की बहादुरी का फिर से सबूत मांग रहे हैं। मैं वीर जवानों और पूर्व सैनिकों का आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने मुंहतोड़ जवाब देकर कांग्रेस के मुंह पर ताला लगा दिया है।

आम आदमी पार्टी पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा, कांग्रेस पार्टी की करतूतों का साथ देने के लिए अब उन्हें ‘पार्टनर- इन- क्राइम’ भी मिल गया है। आप देखिए, कितनी समानता है, दोनों दलों में। जब अयोध्या में राम मंदिर बनता है तो दोनों मिलकर विरोध करते हैं। जब भारत के जांबाज अपना शौर्य दिखाते हैं, तो दूसरी पार्टी के नेता वही बोलते हैं जो पाकिस्तान से बोला जाता है। एक ने पंजाब के युवाओं को नशे के जाल में धकेला, दूसरी पार्टी, दिल्ली के युवाओं को शराब का लती बना रही है।


Share