एससीओ बैठक में पाक ने दिखाया फर्जी नक्शा

एससीओ बैठक में पाक ने दिखाया फर्जी नक्शा
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। पाकिस्तान लगातार दुनिया को भ्रम में डालने की कोशिश में लगा हुआ है। मंगलवार को भी शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) के सदस्य देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की मीटिंग के दौरान फिर पाकिस्तान ने एक नए झूठ को प्रसारित करने की कोशिश की। मीटिंग में पाकिस्तान ने एक काल्पनिक नक्शा पेश किया, जिसके बाद भारतीय पक्ष के एनएसए अजीत डोभाल ने मीटिंग छोड़ दी।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, रूस की मेजबानी में एससीओ सदस्य देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक में पाकिस्तानी एनएसए ने जानबूझकर एक काल्पनिक नक्शा पेश किया, जिसे पाकिस्तान हाल ही में प्रचारित कर रहा है। उन्होंने कहा, यह मेजबान की ओर से जारी सलाहों की उपेक्षा और बैठक के नियमों का उल्लंघन है। मेजबान से परामर्श के बाद भारतीय पक्ष ने विरोध जताते हुए बैठक को छोड़ दिया।

श्रीवास्तव ने कहा, जैसा कि उम्मीद की जा सकती थी, फिर पाकिस्तान ने इस बैठक को लेकर भ्रामक विचार रखे। पाकिस्तान ने 4 अगस्त को नया नक्शा जारी किया था जिसमें पूरे जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और गुजरात के कुछ हिस्सों को शामिल किया गया है। पाकिस्तान ने इसे भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किए जाने की पहली वर्षगांठ से एक दिन पहले जारी किया था।

पाकिस्तान का अभी कोई आधिकारिक रूप से नियुक्त राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नहीं है। मोइद यूसुफ इस तरह की बैठकों में देश का प्रतिनिधित्व करते हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के बयान से पहले यूसुफ ने ट्वीट किया, विचित्र ढंग से, मेरे भारतीय समकक्ष ने पाकिस्तान और रूस के भाषण से वॉकआउट किया। इसने मंच पर खराब अनुभव छोड़ा, जिसकी पूरी भावना सहयोग है।

बीते माह पाकिस्तान ने जारी किया था काल्पनिक नक्शा

श्रीवास्तव ने कहा कि पाकिस्तान की हरकत मेजबान रूस की अडवाइजरी की घोर उपेक्षा थी और बैठक के मानदंडों का उल्लंघन था। मेजबान रूस के साथ बातचीत करने के बाद, भारतीय पक्ष ने उसी वक्त बैठक छोड़ते हुए विरोध जताया। बता दें कि पाकिस्तान की इमरान सरकार ने बीते माह एक नया नक्शा जारी करते हुए लद्दाख, सियाचीन और गुजरात के जूनागढ़ को पाकिस्तान का हिस्सा बताया था। पाकिस्तान तब से लगातार इस नक्शे को प्रचारित कर रहा है।


Share