रेलवे चलाएगा ऑक्सीजन एक्सप्रेस- रेलवे चलाएगा ऑक्सीजन एक्सप्रेस

रेलवे चलाएगा ऑक्सीजन एक्सप्रेस- रेलवे चलाएगा ऑक्सीजन एक्सप्रेस
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। देश में कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के बाद कई राज्यों को ऑक्सीजन की कमी का भी सामना करना पड़ रहा है। एक राज्य से दूसरे राज्य में ऑक्सीजन पहुंचने में भी समय लग रहा है। इन सब परेशानियों को देखते हुए ऑक्सीजन पहुंचाने का जिम्मा अब रेलवे ने उठा लिया है। राज्यों को कम से कम समय में ऑक्सीजन उपलब्ध कराने के लिए रेलवे ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन चलाने जा रहा है।

ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन चलाने की जानकारी खुद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने दी है। पीयूष गोयल ने रविवार को ट्वीट करते हुए कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में रेलवे कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। हम काफी मात्रा में और जल्दी से रोगियों को ऑक्सीजन प्राप्त कराने के लिए ग्रीन कॉरिडोर का उपयग कर रहे हैं और ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन चलाने जा रहे हैं। बता दें कि मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र की राज्य सरकारों ने ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए भारतीय रेलवे से मदद मांगी थी। जिसके बाद रेलवे ने ग्रीन कॉरिडोर के जरिए ऑक्सीजन की सप्लाई करेगा।

रेल मंत्रालय की ओर से एक तस्वीर सामने आई है जिसमें ऑक्सीजन वाले एक टैंकर को ट्रेन पर लादा गया है। ऐसे ही एक साथ कई टैंकरों को लादकर भेजा जाएगा। रेलवे ने ग्रीन कॉरिडोर बनाया है ऐसे में यह ट्रेनें बिना किसी विलंब के अपने निर्धारित स्टेशन तक पहुंचेंगी। रेलवे ने कहा कि महाराष्ट्र से सोमवार को खाली ट्रैंकर रेल के जरिए अपनी यात्रा शुरू करेंगे और फिर वो विजाग, जमशेदपुर, राउरकेला और बोकारो से ऑक्सीजन लेंगे।

(कोविड मरीजों के लिए 3 लाख आइसोलेशन बेड) इस बीच रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि दिल्ली के शकूरबस्ती स्टेशन पर 50 कोविड-19 आइसोलेशन कोच तैयार हैं जिनमें 800 बिस्तरों की सुविधा है।

इसी तरह आनंद विहार स्टेशन पर 25 कोच कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि राज्यों की मांग पर रेलवे देशभर में 3 लाख से अधिक आइसोलेशन बेड्स का इंतजाम कर सकती है। उत्तर रेलवे के जीएम ने एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेस में कहा कि हर आइसोलेशन कोच में दो ऑक्सीजन सिलिंडर रखे गए हैं। अगर ज्यादा की जरूरत पड़ी तो राज्य सरकार को इसका इंतजाम करना होगा। उन्होंने कहा कि उत्तर रेलवे के नेटवर्क में 463 कोविड आइसोलेशन कोच हैं। ये राज्यों की मांग पर उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि कोविड आइसोलेशन कोचेज के लिए राज्यों से कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।


Share