विजय दिवस पर पुतिन ने कहा- यूक्रेन में रूस की कार्रवाई पश्चिमी देशों की नीतियों के खिलाफ है जवाब

कीव पर रूसी राष्ट्रपति पुतिन बोले- यूक्रेन की सेना तख्तापलट कर अपने हाथों में लें सत्ता
Share

मास्को (एजेंसी)। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन में मास्को की सैन्य कार्रवाई को पश्चिमी नीतियों के लिए एक जवाब के रूप में बताया है। नाजियों पर द्वितीय विश्व युद्ध की जीत को चिह्नित करते हुए सोमवार को विजयी दिवस की सैन्य परेड में बोलते हुए पुतिन ने नाजी सैनिकों के खिलाफ लाल सेना की लड़ाई और यूक्रेन में रूसी सेना की कार्रवाई के बीच समानताएं बताईं। उन्होंने कहा कि रूसी सैनिक यूक्रेन में देश की सुरक्षा के लिए लड़ रहे हैं। इस दौरान पुतिन ने युद्ध में शहीद हुए सैनिकों के सम्मान में एक मिनट का मौन रखा। विजय दिवस के मौके पर राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि यूक्रेन में रूसी सेनाएं अपने मातृभूमि को खतरे से बचा रही हैं। साथ ही कहा कि यूक्रेन में रूसी सेना नाजीवाद के खिलाफ लड़ाई जारी रखे हुए हैं। विजय दिवस के मौके पर सोमवार को रेड स्क्वायर पर एक सैन्य परेड का आयोजन किया गया। यह आयोजन हर साल किया जाता है। सैन्य परेड में टैंक, बख्तरबंद वाहन, विशाल अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइलों को ले जाने वाले वाहन आदि नजर आए।

रूसी सीमाओं के बीच अस्वीकार्य खतरा था मौजूद

सैन्य परेड में बोलते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपने आक्रमण को सही ठहराने की मांग करते हुए दावा किया कि हमारी सीमाओं के ठीक बगल में एक बिल्कुल अस्वीकार्य खतरा (नाटो) मौजूद था। पुतिन ने बार-बार आरोप लगाया है कि यूक्रेन रूस पर हमला करने की योजना बना रहा था, जिसका कीव ने स्पष्ट रूप से खंडन किया है।

रूसी सैनिकों की टुकडिय़ां और हथियार ज्यादा नहीं आए नजर

इस साल विजय दिवस पर सैनिकों की टुकडिय़ां और हथियार ज्यादा नजर नहीं आए, क्योंकि अभी यूक्रेन में रूस का सैन्य अभियान चल रहा है और उसके अधिकतर सैनिक तथा हथियार यूक्रेन में तथा उसकी सीमाओं पर तैनात हैं।


Share