अब स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक ट्रेन से पहुंच सकेंगे

अब स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक ट्रेन से पहुंच सकेंगे
Share

पीएम मोदी ने दी हरी झंडी

भारतीय रेलवे के यात्री अब देशभर से स्टैचू ऑफ यूनिटी तक जा सकेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज गुजरात में स्थित दुनिया की सबसे लंबी प्रतिमा तक आठ गाड़ियों को हरी झंडी दिखाएंगे। अब लोग यहां  दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, अहमदाबाद, वाराणसी,उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ और मध्य प्रदेश के रीवा तक भी ट्रेन से आ  सकेंगे। ट्रेनों को हरी झंडी दिखाने के अलावा, पीएम मोदी आज के दिन कई परियोजनाओं का उद्घाटन भी करेंगे।

ये हैं ट्रेनों की पूरी सूची

भारतीय रेलवे की वे ट्रेनें जो आपको स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक ले जाएंगी-

  • ट्रेन नंबर 09103/04 महामना एक्सप्रेस (साप्ताहिक) केवडिया-वाराणसी रूट पर चलेगी।
  • ट्रेन नंबर 02927/28 दादर-केवडिया एक्सप्रेस (दैनिक)
  • ट्रेन नंबर 09247/48 जनशताब्दी एक्सप्रेस (अहमदाबाद-केवडिया मार्ग पर दैनिक)
  • ट्रेन संख्या 09145/46 निजामुद्दीन-केवडिया संपर्क क्रांति एक्सप्रेस (सप्ताह में दो बार)
  • केवडिया-रीवा एक्सप्रेस (साप्ताहिक)
  • ट्रेन संख्या 09925/20 चेन्नई-केवडिया एक्सप्रेस (साप्ताहिक)
  • ट्रेन नं 09107/08 मेमू ट्रेन (दैनिक) प्रतापगढ़-केवडिया ट्रेन संख्या 09109/10 मेमू ट्रेन (दैनिक) केवडिया-प्रतापगढ़ मार्ग पर शामिल है।

कार्यक्रम कब होगा?

दिल्ली से आने वाले लोग भारतीय रेलवे की इन ट्रेनों को हज़रत निज़ामुद्दीन रेलवे स्टेशन (NZM) से ले सकते हैं। मुम्बई के मुसाफिर दादर रेलवे स्टेशन (DDR) से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक भारतीय रेल की ट्रेन ले जा सकेंगे। पीएम नरेंद्र मोदी 17 जनवरी को यानी रविवार को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए भारतीय रेलवे की इन ट्रेनों को हरी झंडी दिखाएंगे और कुछ परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे।

केवडिया रेलवे स्टेशन (KDCY) स्टैचू ऑफ यूनिटी से निकटतम रेलवे स्टेशन है।  यह भारत का पहला रेलवे स्टेशन है जिसके पास ग्रीन बिल्डिंग सर्टिफिकेशन है।  ये परियोजनाएँ आदिवासी क्षेत्रों में विकास कार्यों को बढ़ावा देंगी, नर्मदा नदी के तट पर स्थित महत्वपूर्ण धार्मिक और प्राचीन पर्यटन स्थलों के लिए कनेक्टिविटी को प्रोत्साहित करेंगी। घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों पर्यटन को बढ़ाएगा, क्षेत्र के समग्र सामाजिक-आर्थिक विकास में एक भागीदार के रूप में कार्य करेगा, जो नई नौकरियों और व्यापार के अवसरों को बनाने में भी मदद करेगा।


Share