अब कोरोना से मासूमों को बचाने की तैयारी

कोरोना की दूसरी लहर : 3007 पॉजिटिव मिल
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत में कोरोना महामारी के खिलाफ कोवैक्सिन, कोविशील्ड और स्पूतनिक-वी के सहारे टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। संभावित तीसरी लहर से पहले बच्चों के लिए वैक्सीन पर भी तेजी से काम हो रहा है। एम्स के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया के हवाले से कहा कि बच्चों पर भारत बायोटेक के कोवैक्सिन का परीक्षण चल रहा है और सितंबर तक परिणाम आने की उम्मीद है। परिणाम अगर पॉजिटिव आते हैं तो सितंबर या उसके अगले महीने से बच्चों को वैक्सीन दी जाने की पूरी उम्मीद है।

गुलेरिया का यह बयान तब आया है जब कोवैक्सिन की दूसरी खुराक 2-6 साल के बच्चों को अगले सप्ताह दी जाने की संभावना है। दिल्ली स्थित एम्स में 6-12 साल की उम्र के बच्चों को कोवैक्सिन की दूसरी खुराक पहले ही दी जा चुकी है।

बच्चों पर कोवैक्सिन का परीक्षण कब शुरू हुआ?

7 जून को, दिल्ली एम्स ने 2 से 17 वर्ष की आयु के बच्चों की कोविड-19 वैक्सीन के परीक्षण के लिए स्क्रीनिंग शुरू की। 12 मई को, डीसीजीआई ने भारत बायोटेक को दो साल से कम उम्र के बच्चों पर कोवैक्सिन के दूसरे और तीसरे चरण का परीक्षण करने की अनुमति दी थी। ट्रायल बच्चों को उनकी उम्र के हिसाब से कैटेगरी में बांटकर किया जाता है, जिसमें हर उम्र के 175 बच्चों को शामिल किया गया है। दूसरी खुराक पूरी होने के बाद एक अंतरिम रिपोर्ट जारी की जाएगी, जिससे यह स्पष्ट होगा कि टीका बच्चों के लिए कितना सुरक्षित है।

कोविड -19 की तीसरी लहर के बड़े होने की आशंका के साथ, कुछ विशेषज्ञों ने चिंता जताई है कि अगली लहर में आनुपातिक रूप से अधिक संख्या में बच्चे संक्रमित होंगे। हालांकि, दिल्ली एम्स ने एक अध्ययन जारी किया जिसमें इस बात से इनकार किया गया है।

कोरोना के 39 हजार नये मामले

देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के 39,097 नये मामले सामने आये हैं और 546 लोगों की इस महामारी से मौत हुई है।

इस बीच शुक्रवार को 4267799 लोगों को कोरोना के टीके लगाये गये। देश में अब तक 42 करोड़ 78 लाख 82 हजार 261 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शनिवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना के 39,097 नये मामले सामने आने के साथ ही संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर तीन करोड़ 13 लाख 32 हजार 159 हो गया है। इस दौरान 35,087 मरीजों के स्वस्थ होने के बाद इस महामारी को मात देने वालों की कुल संख्या बढ़कर तीन करोड़ पांच लाख तीन हजार 166 हो गयी है। सक्रिय मामले 3464 बढ़कर 408977 रह गये हैं। इसी अवधि में 546 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 420016 हो गया है। देश में सक्रिय मामलों की दर 1.31 फीसदी, रिकवरी दर 97.35 फीसदी और मृत्यु दर 1.34 फीसदी है।


Share