अब 8 नहीं 10 शहरों में नाइट कफ्र्यू – बाजार अब रात 9 बजे ही बंद होंगे

राजस्थान में आज से फिर 11 से 5 'नाइट कफ्र्यू'
Share

जयपुर (प्रासं)। राजस्थान में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार सख्त हो गई है। अब 8 की जगह 10 शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। चित्तौडग़ढ़ और आबू रोड का नाम भी लिस्ट में जोड़ दिया गया है। अब 10 शहरों के बाजार 9 बजे से बंद हो जाएंगे। रात 10 बजे से नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है।

पहले बाजार बंद होने का समय 10 बजे और नाइट कर्फ्यू का समय 11 बजे तय किया गया था, लेकिन कोरोना केस बढऩे के बाद अब सख्ती बढ़ाते हुए समय और कम कर दिया गया है। आठवीं तक के स्कूल बंद करने पर भी फैसला जल्द कलेक्टर ले सकते हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को कोरोना कोर ग्रुप की बैठक ली।

बैठक में नई गाइडलाइन को मंजूरी दी गई है। राजधानी जयपुर सेत कोरोना प्रभावित 8 शहरों में सख्ती लागू की जाएगी। इससे पहले 21 मार्च को गृह विभाग ने कोरोना गाइडलाइन जारी कर पांबदियां लगाई थीं। इस दिन ही रात 10 बजे बाजार बंद करने और 8 शहरों में रात 11 बजे से नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया था।

जयपुर, अजमेर, भीलवाड़ा, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा और कुशलगढ़ में 22 मार्च से नाइट कर्फ्यू लगा हुआ है। पिछली पाबंदियां के वक्त 476 कोरोना केस सामने आए थे, जो बढ़कर दोगुने हो चुके हैं, और लगातार बढ़ रहे हैं।

गहलोत ने लिखा- किसी कीमत पर कंप्रोमाइज नहीं करेंगे

कोरोना समीक्षा बैठक के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि ‘नो मास्क नो एंट्रीÓ का पालन सख्ती से कराया जाएगा। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हम किसी कीमत पर कंप्रोमाइज नहीं करेंगे। वैक्सीनेशन बढ़ाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने बैठक में कोविड कंट्रोल को लेकर जिलेवार एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टरों को कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग और माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाने पर फोकस करने को कहा गया है।

जिला प्रशासन, पुलिस और स्थानीय निकाय

की टीम करेगी बाजारों में चैकिंग

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन व्यावसायिक प्रतिष्ठानों में कोरोना प्रोटाकॉल का उल्लंघन होता है तो उल्लंघन करने वाले के साथ-साथ संबंधित प्रतिष्ठान संचालक को भी जिम्मेदार माना जाएगा और ऐसे प्रतिष्ठानों को सीज भी किया जा सकता है। उन्होंने निर्देश दिए कि जिला प्रशासन, पुलिस एवं स्थानीय निकाय की संयुक्त टीम बाजारों का दौरा कर प्रतिष्ठानों में कोविड प्रोटोकॉल की पालना सुनिश्चित करें। ये टीमें 14 अप्रेल तक सघन निरीक्षण करेंगी और उल्लंघन पाए जाने पर जुर्माना और सीज की कार्यवाही भी कर सकेंगी। साथ ही जिन विवाह स्थलों पर निर्धारित सीमा से अधिक लोग समारोह में एकत्रित होते हैं तो उन विवाह स्थलों के संचालक भी जिम्मेदार होंगे। ऐसे विवाह स्थलों को सीज किया जा सकेगा।

चित्तौड और आबूरोड़ में भी नाइट कफ्र्यू

गहलोत ने कहा कि प्रदेश के जिन नगरीय क्षेत्रों में रात्रि 11 बजे से नाइट कफ्र्यू लगाया गया है वहां अब रात्रि 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कफ्र्यू रहेगा। अजमेर, भीलवाड़ा, जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, सागवाड़ा एवं कुशलगढ़ के साथ-साथ अब चित्तौडग़ढ़ और आबूरोड़ में भी नाइट कफ्र्यू रहेगा। साथ ही सभी नगरीय क्षेत्रों में अब बाजार रात्रि 10 बजे के स्थान पर एक घंटे पूर्व 9 बजे ही बंद होंगे। आईटी कंपनियों, रेस्टोरेंट, कैमिस्ट शॉप, अनिवार्य एवं आपातकालीन सेवाओं से संबंधित कार्यालय, विवाह संबंधी समारोह, चिकित्सा संस्थान, बस स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन एवं एयरपोर्ट से आने-जाने वाले यात्री, माल परिवहन करने वाले वाहन तथा लोडिंग एवं अनलोडिंग के नियोजित व्यक्ति नाइट कफ्र्यू की व्यवस्था से पहले की तरह मुक्त होंगे।

मुख्यमंत्री ने जिला कलक्टरों को निर्देश दिए कि वे कोरोना को लेकर अपने-अपने जिले का एक्शन प्लान बनाएं और पॉजिटिविटी रेट, मृत्यु दर, टेस्टिंग आदि की नियमित समीक्षा करें। कांटेक्ट ट्रेसिंग, माइक्रो कंटेनमेंट जोन और टेस्टिंग बढ़ाने पर विशेष जोर दें। जिला स्तर पर स्थापित नियंत्रण कक्षों को पुन: प्रभावी बनाएं। इंसीडेंट कमांड सिस्टम को पुन: मजबूत किया जाए। ‘नो मास्क-नो एंट्रीÓ की सख्ती से पालना हो। टीकाकरण की गति को और बढाया जाए।


Share