‘जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं’

'जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं'
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आने वाले दिनों में त्यौहारों, सर्दी के मौसम और अर्थव्यवस्था की स्थिति के मद्देनजर वैश्विक महामारी कोविड-19 के खिलाफ बचाव को लेकर गुरूवार एक ‘जन आंदोलन’ की शुरूआत करते हुए ‘जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं’ का नारा दिया। मोदी ने गुरूवार को ट््वीट कर कहा, आइए, कोरोना से लडऩे के लिए एकजुट हों! हमेशा याद रखें: मास्क जरूर पहनें। हाथ साफ करते रहें। सोशल डिस्टेंङ्क्षसग का पालन करें। दो गज की दूरी रखें। उन्होंने लिखा, जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं। प्रधानमंत्री ने एक और ट््वीट में लिखा, देश में कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई लोगों के जरिए लड़ी जा रही है और हमारे कोरोना योद्धाओं को इससे बहुत ताकत मिलती है।

हमारे सामूहिक प्रयासों से कई लोगों की जान बचाने में मदद मिली है। हमें यह लड़ाई निरंतर जारी रखनी होगी और अपने नागरिकों को वायरस से बचाना होगा। इससे पहले केंद्रीय मंत्री सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को कहा था कि कोरोना से बचाव का हथियार मास्क पहनना, सामाजिक दूरी का पालन करना और बार-बार हाथ धोना है। इसी सिद्धांत का पालन करते हुए सार्वजनिक स्थानों पर इन उपायों के बारे में जागरूकता बढ़ाने का अभियान शुरू किया जाएगा।


Share