भारत में फुल लॉकडाउन की जरूरत नहीं : डब्ल्यूएचओ ने कहा- कोरोना रोकने के लिए मौजूदा उपाय काफी, बस रिस्क के हिसाब से लगाएं बैन

No need for full lockdown in India: WHO said
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत में कोरोना वायरस की तीसरी लहर के मामले बढऩे के बावजूद फिलहाल फुल लॉकडाउन लगाने की जरूरत नहीं है। यह बात वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) ने कही है। डब्ल्यूएचओ के भारत में प्रतिनिधि रॉड्रिको एच. ऑफ्रिन का कहना है कि भारत जैसे देश में कोरोना को फैलने से रोकने के लिए फुल लॉकडाउन लगाने और ट्रैवल बैन करने जैसे कदम नुकसान पहुंचा सकते हैं। उन्होंने सुझाव दिया कि महामारी से लडऩे के लिए रिस्क के हिसाब से बैन लगाने की स्ट्रैटजी बनानी चाहिए।

चार सवालों से तय हो एक्शन प्लान

ऑफ्रिन ने इस बात पर जोर दिया कि जान और रोजगार, दोनों ही बचाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि भारत और दुनियाभर में पब्लिक हेल्थ एक्शन तय करने के लिए चार सवालों के जवाब जानने चाहिए। ये चार सवाल हैं-

>             वैरिएंट कितना संक्रामक है

>             उससे कितनी गंभीर बीमारी होती है

>             वैक्सीन और पिछले कोरोना इन्फेक्शन कितना प्रोटेक्शन दे रहे हैं

>             आम लोग खतरे को कैसे देखते हैं और इसे रोकने के उपायों को कैसे फॉलो करते हैं

फुल लॉकडाउन जैसे उपायों के फायदे कम, नुकसान ज्यादा

ऑफ्रिन ने बताया कि डब्ल्यूएचओ पूरी तरह से ट्रैवल बैन लगाने या लोगों का मूवमेंट रोकने का सुझाव नहीं देता है। ऐसे बैन लगाने से फायदे से ज्यादा नुकसान होता है। भारत जैसे देश में जहां आबादी के बंटवारे में इतनी विविधता है, वहां महामारी से लडऩे के लिए रिस्क-बेस्ड अप्रोच को फॉलो करना समझदारी लगती है। मौजूदा हालातों, हेल्थ सेक्टर की क्षमताओं और सामाजिक-आर्थिक परिदृश्य को देखते हुए सरकार को महामारी रोकने के लिए उपाय तैयार करने चाहिए। अगर सभी नियमों का पालन किया जाएगा तो लॉकडाउन लगाने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी।

मास्क लगाने और वैक्सीन कवरेज बढ़ाने जैसे उपाय असरदार

ऑफ्रिन ने कहा कि अभी जो हालात हैं, उसमें मौजूदा टूल्स और उपाय असरदार साबित हो रहे हैं। वैक्सीनेशन कवरेज बढ़ाने, मास्क का इस्तेमाल करने, हाथों का हाइजीन और फिजिकल डिस्टेंसिंग बनाए रखने, इनडोर स्पेस को वेंटिलेट करने और भीड़ में नहीं जाने से संक्रमण की चेन को तोडऩे में मदद मिलती है। अगर इन सबका पालन हो रहा है तो लॉकडाउन जरूरी नहीं है।


Share