इमरान के खिलाफ संसद ही नहीं घर में भी ‘नो कॉन्फिडेंस’, बुशरा बीबी के साथ छोडऩे की अटकलें

'No confidence' against Imran not only in Parliament but also at home, speculation of leaving Bushra Bibi
Share

इस्लामाबाद (एजेंसी)। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान इन दिनों संसद के साथ घर में भी मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि इमरान खान और उनकी तीसरी पत्नी बुशरा बीबी के बीच मनमुटाव हो गया है। जिस कारण बुशरा बीबी इस्लामाबाद में इमरान खान के महलनुमा घर बनी गाला को छोड़कर लाहौर चली गई हैं। लाहौर में बुशरा बीबी अपने दोस्त सानिया शाह के साथ रह रही हैं। यह भी दावा किया गया है कि बुशरा बीबी के जाने के बाद इमरान ने अपने घर के सभी पर्सनल स्टॉफ को भी बदल दिया है। ऐसा भी दावा किया जा रहा है कि जल्द ही इमरान खान और बुशरा बीबी अपने अलग होने का औपचारिक ऐलान कर सकते हैं। दूसरी तरफ, विपक्षी दलों के गठबंधन पाकिस्तान डेमोक्रेटिक अलायंस ने इमरान खान के खिलाफ संसद में अविश्वास प्रस्ताव लाने का ऐलान कर दिया है। इतना ही नहीं, विपक्षी दलों की ओर से पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के चीफ और पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को देश के अगले प्रधानमंत्री के तौर पर पेश करने की अटकलें भी हैं।

क्यों हुआ इमरान खान और बुशरा बीबी में झगड़ा

दावा किया जा रहा है कि इमरान खान से झगड़े की वजह बुशरा बीबी के पूर्व पति खावर फरीद मनेका हैं। इमरान और बुशरा के बीच अनबन की शुरूआत पिछले साल अक्टूबर में ही हो गई थी। खावर फरीद मनेका पर आरोप लगा कि वह बुशरा बीबी के प्रभाव का इस्तेमाल कर पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में कई ठेकों को ले रहे थे। उन्होंने अपने करीबियों और रिश्तेदारों के बीच भी इन ठेकों की बंदरबाट की थी। इस बात की शिकायत पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री उस्मान बुझदार ने प्र.म. इमरान खान से की और तभी से दोनों के रिश्तों में तनाव पैदा हो गया। इसके बाद जनवरी में बुशरा बीबी की एक नजदीकी दोस्त फराह आजमी के पति की सरकारी विभागों से सांठगांठ कर घोटाला करने की खबरें आई थी। इस घोटाले की चर्चा मेनस्ट्रीम मीडिया में तो नहीं लेकिन सोशल मीडिया में खूब हुई। बताया जाता है कि इसी कारण इमरान खान की पार्टी अपने प्र.म. के गृह राज्य खैबर पख्तूनख्वा में हुए निकाय चुनाव में बुरी तरह से हार गई। जिसके बाद पार्टी में भी बुशरा बीबी के खिलाफ आवाजें उठने लगी।

बुशरा को ‘गॉडमदर’ कहते हैं इमरान के पार्टी के कार्यकर्ता

पाकिस्तानी मीडिया में इस बात की चर्चा रहती है कि बुशरा ने पीटीआई के अंदर अपना अलग धड़ा बना रखा है। बड़ी संख्या में उनके समर्थक उनके प्रति वफादारी रखते हैं। इमरान के बारे में भी कहा जाता है कि वह पार्टी के अंदर विरोध के स्वर या महिलाओं की नाराजगी पर बुशरा को आगे कर देते हैं। इसके चलते उन्हें ‘गॉडमदर’ तक का दर्जा दिया गया है। यहां तक कि यह भी कहा जाता है कि पार्टी के सदस्यों की पार्टी से ज्यादा बुशरा के प्रति वफादारी है। दिलचस्प बात यह है कि बुशरा को ‘काला जादू’ करने वाला बताया जाता है। वह खुद को मिस्टिक और आध्यात्मिक हीलर बताती हैं।

विवादों में भी रही हैं बुशरा बीबी

कहा जाता है कि वह काफी गुस्से वाली बुशरा ने 20 पाकिस्तानी अधिकारियों का ट्रांसफर सिर्फ इसलिए करा दिया था, क्योंकि वह उनके लिए दरवाजा खोलने में देर कर रहे थे। पर्दे में रहने पर उन्होंने एक बार सफाई दी थी। बुशरा ने कहा, सिर्फ पर्दा नहीं करने से कोई मॉर्डन नहीं हो सकता। मैं हमेशा पर्दे में रहती हूं और इसके लिए मुझ पर कोई दबाव नहीं है। यह अल्लाह से वास्ता रखने का मेरा अपना तरीका है। ऐसा भी कहा जाता है कि इमरान खान सरकार चलाने में बुशरा बीबी की मदद से फैसले लेते हैं। उन्होंने खुद भी स्वीकार किया है कि उनकी पत्नी बहुत बुद्धिमान हैं और वह उनके साथ सरकार से जुड़े हर मसले पर चर्चा भी करते हैं।

तीन शादी कर चुके हैं इमरान

इमरान खान पहले भी दो शादियां कर चुके हैं। ब्रिटिश नागरिक जेमिमा गोल्डस्मिथ ने 1995 में इमरान खान के साथ शादी की थी। नौ साल बाद 2004 में दोनों का तलाक हो गया था। इमरान खान के साथ रहने के दौरान जेमिमा को सुलेमान और कासिम नाम के दो बच्चे भी हुए। वह 30 साल की उम्र में ब्रिटेन वापस लौट आई। इमरान खान ने दूसरी शादी पेशे से पत्रकार रेहम खान के साथ की। यह शादी भी महज आठ महीनों में ही टूट गई। जिसके बाद इमरान खान ने बुशरा बीबी के साथ तीसरी शादी की।

अविश्वास प्रस्ताव लाने जा रहा विपक्ष

पाकिस्तान डेमोक्रेटिक अलायंस के के मुखिया मौलाना फजलुर रहमान ने आरोप लगाया कि इमरान खान ने पाकिस्तान का बंटाधार कर दिया है। उन्होंने ऐलान किया कि विपक्षी दल जल्द ही संसद में इमरान सराकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पेश करने वाले हैं। उन्होंने यहां तक दावा किया कि इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसान के कम से कम 20 सांसद हमारे साथ हैं। विपक्षी दलों के गठबंधन में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज, बलूचिस्तान नेशनल पार्टी (मेंगल), जमीयत अहले हदीस, जमीयत- उलेमा-ए-इस्लाम (फजल), जमीयत-उलेमा-ए-पाकिस्तान, नेशनल पार्टी (बिजेंजो), पश्तूनख्वा मिल्ली अवामी पार्टी, कौमी वतन पार्टी शामिल हैं।


Share