आर्यन खान ड्रग्स केस में नया मोड़! – गवाह बोला- 18 करोड़ में हुई डील, एनसीबी ने नकारा

आर्यन खान ड्रग केस: ड्रग पार्टी मामले में अब मुंबई पुलिस की एंट्री
Share

मुंबई (कार्यालय संवाददाता)। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की ओर से क्रूज ड्रग्स पार्टी केस में गिरफ्तार किए गए एक्टर शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान के मामले में नया मोड़ आ गया है। एनसीबी के गवाह ने इस केस में चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। खुद को इस केस से जुड़े शख्स केपी गोसावी का बॉडीगार्ड बताने वाले प्रभाकर सेल ने एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े और गोसावी पर पैसों की डील के आरोप लगाए हैं। प्राइवेट डिटेक्टिव केपी गोसावी की ही फोटो आर्यन खान के साथ वायरल हुई थी। मामले में समीर वानखेड़े ने सभी आरोपों से इनकार किया है और कहा है कि वह बाद में इसका सटीक जवाब देंगे।

प्रभाकर सेल नाम के इस गवाह ने एक हलफनामे में दावा किया है कि उसने केपी गोसावी और किसी सैम डिसूजा के बीच 18 करोड़ रूपये की डील की बात सुनी थी। इनमें से 8 करोड़ रूपये एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को दिए जाने थे। उसने यह भी दावा किया है कि उसने केपी गोसावी से रूपये लेकर सैम डिसूजा तक पहुंचाए थे।

प्रभाकर सेल वही शख्स है, जिसे एनसीबी ने 6 अक्टूबर को जारी की गई प्रेस रिलीज में गवाह के तौर पर बताया था। अब प्रभाकर ने आरोप लगाया है कि केपी गोसावी लापता है। उसका कहना है कि उसे केपी गोसावी की जान को खतरा होने की आशंका है। इसलिए उसने यह हलफनामा दाखिल किया है।

वहीं एनसीबी के सूत्रों का कहना है कि ये सभी आरोप बेबुनियाद हैं। उन्होंने यह भी सवाल किया कि अगर पैसों का लेनदेन होता तो कोई भला जेल में क्यों होता। सूत्रों ने कहा कि ये सारे आरोप एनसीबी की छवि बिगाडऩे के लिए लगाए जा रहे हैं। ऑफिस में सीसीटीवी कैमरा लगे हैं। ऐसा कुछ भी कहीं नहीं हुआ है। अफसरों का यहां तक कहना है कि वे 2 अक्टूबर से पहले प्रभाकर सेल को जानते तक नहीं थे। सूत्रों ने कहा कि उसका यह हलफनामा एनडीपीएस कोर्ट पहुंचाया जाएगा। एनसीबी भी वहां अपनी प्रतिक्रिया देगी।


Share