एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को मिली जेड प्लस सुरक्षा, मंदिर पहुंचकर लगाई झाड़ू

एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू को मिली जेड प्लस सुरक्षा, मंदिर पहुंचकर लगाई झाड़ू
Share

मयूरभंज (एजेंसी)। एनडीए की तरफ से राष्ट्रपति चुनाव के लिए उम्मीदवार घोषित होने के अगले ही दिन द्रौपदी मुर्मू को जेड प्लस सिक्योरिटी उपलब्ध करा दी गई है। आदिवासी नेता और झारखंड की पूर्व राज्यपाल मुर्मू की सुरक्षा में केंद्र सरकार के निर्देश पर सीआरपीएफ के कमांडो अब 24 घंटे तैनात रहेंगे। बुधवार को मुर्मू ओडिशा के एक शिव मंदिर में गई और पूजा अर्चना की। इस दौरान उन्होंने मंदिर परिसर में झाड़ू भी लगाई।

भाजपा की अगुआई वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने मंगलवार को द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया था। इससे कुछ घंटे पहले ही विपक्षी दलों की तरफ से यशवंत सिन्हा को प्रत्याशी बनाए जाने का ऐलान किया गया था।

64 वर्षीय एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू बुधवार सुबह ओडिशा के मयूरभंज जिले में रायरंगपुर जगन्नाथ मंदिर पहुंचीं और पूजा अर्चना की। उन्होंने झाड़ू लेकर मंदिर परिसर में साफ सफाई भी की। द्रौपदी मुर्मू का जन्म आदिवासी जिले मयूरभंज के रायरंगपुर गांव में ही हुआ था। वह आदिवासी पूजा स्थल जहिरा भी गईं।

इससे पहले, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने द्रौपदी मुर्मू को वीआईपी प्रोटेक्शन देने का निर्देश जारी किया। मुर्मू को संभावित खतरे की आशंका को देखते हुए उन्हें जेड प्लस सिक्योरिटी देने का फैसला किया गया है। अधिकारियों के मुताबिक, अब सीआरपीएफ के 14 से 16 जवान हर वक्त उनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। रायरंगपुर में मुर्मू के घर की भी सुरक्षा अब यही संभालेंगे।

द्रौपदी मुर्मू की उम्मीदवारी घोषित होने के बाद प्र.म. नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके कहा था,  द्रौपदी मुर्मू जी ने अपना जीवन समाज की सेवा और गरीबों, दलितों के साथ-साथ हाशिए के लोगों को सशक्त बनाने के लिए समर्पित किया है। उनके पास समृद्ध प्रशासनिक अनुभव है। उनका कार्यकाल उत्कृष्ट रहा है। मुझे विश्वास है कि वह हमारे देश के लिए एक महान राष्ट्रपति सिद्ध होंगी।  द्रौपदी मुर्मू ने बताया था कि उन्हें टीवी के जरिये जानकारी मिली कि उन्हें राजग की ओर से देश के सर्वोच्च पद का प्रत्याशी घोषित किया गया है। मुझे इस अवसर की उम्मीद नहीं थी। मैं आश्चर्यचकित और खुश हूं। मयूरभंज जिले से आने वाली एक आदिवासी महिला के रूप में मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे इस पद का उम्मीदवार बनाया जाएगा।


Share