ना’पाक’ आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़- दिल्ली पुलिस ने 6 आतंकी दबोचे

आतंकी हमले में सैनिक शहीद, 3 घायल
Share

नई दिल्ली (एजेंसी)।  दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने पाकिस्तान समर्थित एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करते हुए पाक प्रशिक्षित दो आतंकवादियों सहित कुल 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। स्पेशल सेल के डीसीपी प्रमोद कुशवाहा ने मंगलवार को बताया कि स्पेशल सेल ने कई राज्यों में चले इस ऑपरेशन में विस्फोटक और हथियार बरामद किए गए हैं। इन सभी छह लोगों को दिल्ली, यूपी और महाराष्ट्र से पकड़ा गया है। गिरफ्तार आतंकियों में दो की शिनाख्त ओसामा और जीशान के रूप में हुई है। दिल्ली पुलिस ने बताया कि इन दोनों आतंकियों की ट्रेनिंग पाकिस्तान में हुई थी। इन आतंकियों के अंडरवल्र्ड से भी संबंध बताए जा रहे हैं।

इस गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल क स्पेशल सीपी नीरज ठाकुर ने बताया कि आशंका है कि इस ग्रुप में 14-15 लोग शामिल हैं और यह भी हो सकता है कि उन्हें भी यहीं ट्रेनिंग मिली हो। ऐसा लगता है कि यह ऑपरेशन को बॉर्डर के आसपास से ही ऑपरेट किया जा रहा था। दिल्ली पुलिस की तरफ से जानकारी दी गई है कि इन्होंने 2 टीमें बनाई थी। एक टीम को दाउद इब्राहिम का भाई अनीस इब्राहिम को-ऑर्डिनेट कर रहा था। इस काम था कि बॉर्डर से हथियार जुटाकर पूरे भारत में हथियार पहुंचाए। दूसरी टीम के पास हवाला के जरिए फंड जुटाने का काम था।

जानकारी के अनुसार, इन आतंकियों की गिरफ्तारी के लिए मल्टी स्टेट ऑपरेशन चलाया गया था। पाकिस्तान में ट्रेनिंग लेने वाले दोनों आतंकियों में एक का नाम ओसामा और दूसरे का जीशान कमर है। इसके अलावा पकड़े गए 4 अन्य आरोपियों का नाम मोहम्मद अबु बकर, जान मोहम्मद शेख, मोहम्मद आमिर जावेद और मूलचंद लाला है।

दिल्ली पुलिस का कहना है कि ये सभी देश में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने के लिए साजिश रच रहे थे। साथ ही कई नामचीन हस्तियों को निशाना बनाने वाले थे, और देश का माहौल बिगाडऩा चाहते थे। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पकड़े गए आतंकियों में से एक का काम आने वाले फेस्टिवल सीजन में आईईडी प्लांट करना था। नवरात्रि और रामलीला के दौरान भीड़ भरे इलाके इनके निशाने पर थे। आतंकियों से भारी मात्रा में विस्फोटक, हथियार और हाई क्वालिटी पिस्टल बरामद किए गए हैं।

पूछताछ के दौरान बड़ा खुलासा

दाऊद का भाई अनीस था गिरफ्तार आतंकियों के पीछे

नई दिल्ली (एजेंसी)। मुंबई को धमाकों से दहलाने की साजिश रचने और उसे अंजाम तक पहुंचाने वाले अंडरवल्र्ड डॉन और इंडिया के मोस्ट वांटेड क्रिमिनल दाऊद इब्राहिम की गलत मंशा का एक बार और खुलासा हो गया है। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और यूपी एटीएस ने जिन 6 आतंकियों को प्रयागराज से गिरफ्तार किया है उनसे पूछताछ के दौरान एक बड़ा खुलासा हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार आतंकियों के पीछे दाऊद इब्राहिम के भाई अनीस इब्राहिम की भी महत्वपूर्ण भूमिका सामने आ रहा है। इसके साथ ही पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई भी इसमें शामिल बताई जा रही है। गौरतलब है कि गिरफ्तार किए गए 6 आतंकियों में से दो ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग ली है और इसका पूरा इंतजाम आईएसआई और अंडरवल्र्ड की तरफ से किया गया था।

हर तरह से मदद कर रहा था अनीस

जानकारी के अनुसार अनीस इब्राहिम इन आतंकियों की दहशत फैलाने के लिए हर तरह से मदद कर रहा था। भारत में वो इन्हें रूपया, विस्फोटक और हथियार तक पहुंचा रहा था। अब पुलिस इस बात का पता लगा रही है कि अनीस और आतंकियों के बीच में कोई कड़ी देश में मौजूद तो नहीं थी। साथ ही अनीस के ठिकाने के बारे में भी पता किया जा रहा है।

कई शहरों में थी धमाके की साजिश

आतंकवादियों ने अनीस की मदद के साथ ही कई बड़े शहरों में धमाकों की साजिश रची थी। इसके लिए उनके पास विस्फोटक भी पहुंच गया था। वहीं कई नामचीन लोगों को भी ये निशाना बना कर दहशत फैलाने वाले थे। साथ ही इस बात का भी खुलासा हुआ है कि आतंकवादी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में भी आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की प्लानिंग कर रहे थे।

फिर सामने आए रिश्ते

आतंकियों की गिरफ्तारी के साथ ही आईएसआई और आतंकवादियों के बीच तालमेल का तो खुलासा हुआ ही। वहीं आईएसआई और अंडरवल्र्ड के रिश्ते भी एक बार फिर खुलकर सामने आ गए हैं। पाकिस्तान हमेशा से ही अंडरवल्र्ड और आतंकवादियों का साथ न देने की बात कहता आया है लेकिन उसी की खुफिया एजेंसी की ओर से आतंकियों को ट्रेनिंग और उन्हीं को अनीस की ओर से मिल रही मदद इस बात को साफ करती है।


Share