मुशर्रफ ने पाकिस्तानियों को ‘लूट’ लंदन-यूएई में खरीदा करोड़ों का ‘महल’

मुशर्रफ ने पाकिस्तानियों को 'लूट' लंदन
Share

इस्लामाबाद (एजेंसी)। पाकिस्तान की गरीब जनता को ‘लूटकर’ अरबों की दौलत बनाने वाले सैन्य अधिकारियों की पोल एक-एक करके अब खुलती जा रही है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक असीम बाजवा के बाद अब पूर्व सेना प्रमुख और राष्ट्रपति रहे परवेज मुशर्रफ के बारे में बड़ा खुलासा हुआ है। पाकिस्तान के दिलेर पत्रकार अहमद नूरानी ने खुलासा किया है कि जनरल परवेज मुशर्रफ को रिटायरमेंट पर 2 करोड़ रूपये मिले थे लेकिन उन्होंने लंदन और संयुक्त अरब अमीरात में 20-20 करोड़ रूपये दो फ्लैट खरीदे।

नूरानी ने अपनी वेबसाइट फैक्ट फोकस पर जारी रिपोर्ट में ब्रिटेन और यूएई के दस्तावेजों के हवाले से बताया कि मुशर्रफ ने लंदन में 13 मई 2009 को करीब 20 करोड़ रूपये में फ्लैट खरीदा था। यही नहीं इसी वित्तीय वर्ष में मुशर्रफ ने यूएई में भी करीब 20 करोड़ पाकिस्तानी रूपये का फ्लैट खरीदा था। मजेदार बात यह है कि इसी साल उन्हें सेना से रिटायरमेंट के बाद मात्र 2 करोड़ रूपये का वित्तीय लाभ दिया गया था।

दुबई में आलीशान इलाके में 20 करोड़ का फ्लैट

पाकिस्तान के चुनाव आयोग के पास वर्ष 2013 में दाखिल किए गए दस्तावेजों में कहा गया है कि मुशर्रफ ने सेना से रिटायर होते समय मिले घर या अपनी एक भी जमीन को बेचा नहीं था। जनरल मुशर्रफ वर्ष अप्रैल 2009 में न्यायपालिका की बहाली के बाद देश छोड़कर चले गए थे। उन्होंने लंदन के आलीशान हाइड पार्क इलाके में फ्लैट खरीदा था। इसके अलावा उन्होंने दुबई में भी आलीशान इलाके में 20 करोड़ का फ्लैट खरीदा है।

जनरल मुशर्रफ की इस संपत्ति के खरीद के मामले पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो के पास काफी समय से लंबित हैं। पाकिस्तानी सेना के बल पर सत्ता में आए इमरान खान ने पूर्व प्र.म. नवाज शरीफ को लंदन से वापस लाने के लिए अपना जोर लगा दिया है लेकिन पूर्व सेना प्रमुख मुशर्रफ के खिलाफ कार्रवाई के लिए उनकी हिम्मत नहीं हो रही है। वहीं मुशर्रफ के प्रवक्ता दावा करते हैं कि पूर्व जनरल ने भाषण देकर पैसा कमाया है।

पूर्व सैन्य प्रवक्ता जनरल असीम सलीम बाजवा भी फंसे

आय से अधिक संपत्ति के मामले में इमरान खान के लाडले पूर्व सैन्य प्रवक्ता जनरल असीम सलीम बाजवा भी फंस गए हैं। बाजवा ने अरबों रूपये के भ्रष्टाचार के खुलासे के बाद अंतत: प्र.म. के सलाहकार पद से इस्तीफा दे दिया लेकिन इमरान ने उसे स्वीकार नहीं किया है। पाकिस्तानी सेना और चीन-पाकिस्तान इकनॉमिक कॉरिडोर के अध्यक्ष पद पर रहते हुए जनरल बाजवा पर अरबों रूपये की दौलत बनाने का आरोप लगा है। बाजवा ने अभी करीब 60 अरब डॉलर के सीपेक परियोजना के चेयरमैन पद से इस्तीफा नहीं दिया है। जनरल बाजवा पर चार देशों में 99 कंपनियां और 133 पापा जॉन पिज्जा के रेस्त्रां बनाने का आरोप है।

अब पत्रकार को मिल रही हत्या की धमकियां

जनरल असीम सलीम बाजवा की अरबों की संपत्ति का खुलासा करने वाले पत्रकार नूरानी को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। पाकिस्तानी पत्रकार अहमद नूरानी ने ट्वीट कर कहा कि पिछले कुछ घंटों में मुझे 100 से ज्यादा मैसेज आए हैं जिसमें मुझे और मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी गई है। नूरानी ने कहा कि वे धमकियां देने वाले अकाउंट्स के बारे में सब जानते हैं। फिर भी पाकिस्तान की फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी और साइबर क्राइम विंग हमेशा इन अपराधियों के साथ खड़े रहे हैं। फिर भी पाकिस्तान लौटने के कुछ दिन बाद मैं फिर फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी के पास जाऊंगा।


Share